बड़ौत (बागपत) : शिलान्यास कार्यक्रम में डा. सत्यपाल ¨सह ने कहा कि साढ़े चार साल पहले यहां आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बागपत को विकसित करने का दावा किया था। यह सपना पूरा हो रहा है। सपा सरकार ने दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे के निर्माण को एनओसी नहीं दी थी, लेकिन प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एनओसी देने में देर नहीं लगाई। उन्होंने कहा कि प्रशासन बामनौली गांव के कोरी समाज के लोगों के जाति प्रमाण-पत्र नहीं बना रहा। इस समस्या का समाधान किया जाए। गरीबों के राशन में घोटाला करने वालों पर शिकंजा कसे और पात्रों के खाते में लाभ राशि सीधी पहुंचे। उन्होंने रमाला चीनी मिल की तरह बागपत चीनी मिल के विस्तारीकरण की जरूरत बताई। कहा, जिस तरह योगी जी ने गुंडों पर शिकंजा कसा, वैसे ही चीनी मिल मालिकों पर शिकंजा कसा जाए।

हाईवे निर्माण से होगा सबको फायदा: वीके ¨सह

बड़ौत: केंद्रीय राज्य मंत्री वीके ¨सह ने कहा कि दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे (दिल्ली-सहारनपुर हाईवे) पर 10 साल से गड्ढे और पत्थरो के कारण चलना भी मुश्किल था। वर्ष 2014 में भाजपा सरकार केंद्र में आई तो केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सड़कों का जाल फैलाना शुरू किया। दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे निर्माण होने से यहां के लोगों का जीवन खुशहाल होगा और दिल्ली की दूरी घटेगी।

टिकैत से लेकर कांशीराम के नाम तक होगी सड़क : मौर्य

बड़ौत: उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भाजपा सरकार से पहले क्षेत्र का विकास रुका पड़ा था। कांग्रेस, सपा, बसपा भेदभाव की राजनीति करती है, लेकिन भाजपा सबको साथ लेकर चलने वाली पार्टी है। विरोधी पार्टियां गठबंधन बनाकर भी वर्ष 2019 में मोदी की सरकार बनने से नहीं रोक सकतीं। कांग्रेस सरकार में एक रुपए में से 15 पैसे ही पात्रों तक पहुंच जाता था। 85 पैसे का कोई अता-पता नहीं था लेकिन मोदी सरकार में योजना का एक-एक पैसा पात्र गरीबों के खातों में पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि सड़कों के नाम महापुरुषों के नाम पर रखे जा रहे हैं। स्व. बाबा टिकैत से लेकर कांशीराम तक के नाम पर सड़कें बनवाई जाएंगी।

Posted By: Jagran