बागपत, जेएनएन। कोरोना वैक्सीन की किल्लत बनी हुई, जिसके कारण छोटे सेंटरों पर वैक्सीनेशन बंद है और सीएचसी पर वैक्सीन कराने की वालों की भारी भीड़ उमड़ रही है।

गुरुवार को बड़ौत सीएचसी पर टीकाकरण कराने के लिए लोगों की जबरदस्त भीड़ उमड़ी। इस दौरान कोविड गाइडलाइन पूरी तरह ध्वस्त रही।महिला और पुरुष की भीड़ बढ़ने से मारामारी जैसे हालात बने रहे। वैक्सीनेशन सेंटर पर बगैर आनलाइन रजिस्ट्रेशन और स्लाट बुक कराए काफी संख्या में लोग पहुंचे। इस दौरान वैक्सीनेशन सेंटर पर तिल रखने तक की जगह नहीं बची और लोग एक दूसरे से धक्का-मुक्की करते नजर आए। इस दौरा व्यवस्था बनाने की कवायद में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों के साथ भी नोकझोंक हुई। भीड़ को रोकने के लिए बार-बार सीएचसी का गेट बंद करना पड़ रहा था। गेट खुलते ही एक साथ कई लोगों के अंदर घुसने की कोशिश करते, जिससे व्यवस्था बिगड़ जाती। दो बच्चों की नीति देश में लागू करने की मांग

दो बच्चों की नीति को पूरे देश में लागू करने की मांग को लेकर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की जिला इकाई ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा।

गुरुवार को तहसील पहुंचे फाउंडेशन के जिलाध्यक्ष तरुण तोमर ने बताया कि देश में शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, आवास, रोजगार पर बढ़ते दबाव को देखते हुए दो बच्चों की नीति को अनिवार्य करने की जरूरत है। देश में जनसंख्या विस्फोट की स्थिति भविष्य की पीढि़यों के लिए विभिन्न समस्याएं उत्पन्न करेगी। जो लोग छोटे परिवार की नीति का पालन करते हैं वे भी विकास में योगदान करते हैं। ज्ञापन देने वालों में जिला सचिव संदीप जैन, जिला कोषाध्यक्ष अमरपाल पंवार, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रतिभा डिमरी शामिल रहे।