खेकड़ा (बागपत): बिहार के भागलपुर से खरीदी महिला को कुछ दिन रखने के बाद उसका कथित पति डूंडाहेड़ा चौकी के पास छोड़कर फरार हो गया। महिला पुलिस ने आधार कार्ड नहीं होने की बात कहकर पीड़िता को चलता कर दिया। बालाजी आश्रम पर महिला को आश्रय दिया है।

बुधवार दोपहर डूंडाहेड़ा के बालाजी आश्रम पर खाना खाने लिए रोती हुई महिला पहुंची। संत भैयादास ने रोने का कारण पूछा तो महिला ने बताया कि उसका नाम आरती है। बिहार के भागलपुर जिले की रहने वाली है। बचपन में माता-पिता की मौत होने के बाद चाचा ने ही देखभाल की। आरोप है कि गत महीने ने चाचा ने रोहित नाम के युवक से रकम लेकर बेच दिया। रोहित ने कुछ दिन अपने साथ रखा। दो दिन पूर्व दिल्ली में रखने की बात कहकर अपने साथ लाया। बुधवार सुबह पति के साथ डूंडाहेड़ा चेकपोस्ट के पास पहुंची। पति दुकान से गुटखा लाने की बात कहकर गया, लेकिन घंटों बाद भी वापस नहीं आया। पति नहीं आया तो उसने मामले की जानकारी डूंडाहेड़ा पुलिस को दी। कुछ देर बाद पहुंची महिला पुलिस ने मामले जाना। मांगने पर आधारकार्ड नहीं मिला तो महिला पुलिस ने उसे कोई मदद नहीं होने की बात कहकर दर-दर की ठोकरें खाने को चलता कर दिया। समाचार लिखे जाने तक महिला आश्रम पर साध्वी राधादेवी के पास थी। उधर, इंस्पेक्टर संजीव कुमार का कहना है कि पते की जानकारी कर उसे वापस भेजा जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप