जेएनएन, बागपत। जिले में मंगलवार को कोरोना का विस्फोट हुआ। संक्रमितों की संख्या सैकड़ा पार कर गई और एक दिन में मरीज मिलने का नया रिकार्ड बन गया। एक भाजपा नेता व एक महिला की कोरोना से मौत हुई है। इतने ज्यादा संख्या में मिले संक्रमितों की वजह से जिले में हड़कंप मचा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग में भी डाक्टर सकते में हैं।

जिले में कोरोना का वायरस तेजी के साथ लोगों को जकड़ता जा रहा है। लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। मंगलवार को मिली रिपोर्ट में अब तक सभी रिकार्ड टूट गए हैं। एक साथ 118 लोग कोरोना से पाजिटिव हो गए हैं। इतनी भारी संख्या में कोरोना के मरीजों मिलने पर जिले में दहशत का माहौल बन गया है। वहीं प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी भी चिता में हैं, क्योंकि आम जनता के साथ-साथ पुलिस कर्मी भी लगातार पाजिटिव मिलते जा रहे हैं। कोविड-19 अस्पताल से लेकर होम आइसोलेशन उपचाराधीन हैं। 448 एक्टिव केस हैं। वहीं 16 लोग कोरोना से जंग जीतकर स्वजन के बीच पहुंच गए हैं। सीएमओ डा. आरके टंडन ने बताया कि अब कोरोना का वायरस हावी होता जा रहा है। अब संक्रमितों की संख्या तेज गति से बढ़ रही है। सभी को सावधानियां बरतनी हैं।

----------

कोरोना जांच कराने के लिए लगी रही लाइन

--कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है तो लोग भी जांच कराने के लिए स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंच रहे हैं। मंगलवार को सुबह से लेकर दोपहर तक लोग जांच कराने के लिए पहुंचे। जिला अस्पताल से लेकर सीएचसी में कोरोना जांच करवाने वालों की लाइन लगी रही है।

----------

तीन जगह कोरोना रोगियों के लिए 650 बेड की व्यवस्था

कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन अलर्ट है। संक्रमितों के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए कोविड-19 अस्पतालों की संख्या बढ़ा दी है। आर्य भट्ठा कालेज को जहां 500 बेड का अस्पताल बनाया है। वहीं सरूरपुर सीएचसी को भी 75 बेड का एल-2 अस्पताल बनाया है। खेकड़ा सीएचसी में पहले से ही संचालित कोविड-19 एल-2 अस्पताल में भी 75 बेड कर दिए हैं। दोनों जगह चार-चार वेंटीलेटर की व्यवस्था की गई है। सभी जगह 25-25 बड़े और 15-15 छोटे आक्सीजन के सिलेंडर हैं। सभी सीएचसी में आक्सीजन सिलेंडर हैं, जिनका आपातकालीन स्थिति में इस्तेमाल किया जाएगा। जिला अस्पताल में 50 सिलेंडर हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के पास रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं हैं।