बागपत, जेएनएन। कोरोना का वायरस पर अभी काबू नहीं पाया गया है। कोई न कोई लोग संक्रमित हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर और कर्मचारी भी इससे अछूते नहीं हैं। 43 लोगों को कोरोना ने जकड़ लिया हैु। लापरवाही भी कम नहीं हो रही है। शहर में लगने वाले शुक्र बाजार में कोरोना का संक्रमण फैलने का सबसे अधिक खतरा बढ़ रहा है।

जिले में अभी कोरोना वायरस काबू में नहीं है। हर रोज कोरोना से संक्रमित होने वाली की सूची लंबी होती जा रही है। शुक्रवार को भी 43 लोग कोरोना से संक्रमित हो गए, जिनका होम आइसोलेशन में इलाज चलेगा। इन सभी संक्रमितों को निर्देशित किया है कि परिवार से दूरी बनाकर अलग कमरे में रहेंगे। स्वजन से संपर्क नहीं बनाएंगे। खानपान का विशेष ध्यान रखेंगे। संक्रमितों में पुलिस लाइन से और स्वास्थ्य कर्मचारी शामिल है। अब एक्टिव केस 281 रह गए हैं। लोगों की लापरवाही भी बढ़ती जा रही है। शहर में प्रत्येक शुक्रवार को लगने वाला बाजार में ज्यादा संख्या में लोगों की भीड़ रही। कोरोना गाइडलाइन के नियमों का पालन नहीं किया गया है। बिना मास्क के लोग खरीदारी कर रहे थे और दुकानदार भी किसी भी तरह की सावधानियां नहीं बरत रहे थे। सीएमओ डा. दिनेश कुमार ने लोगों से अपील की मास्क जरूर लगाए और शारीरिक दूरी का पालन करें। ये सावधानियां बरतेंगे तो कोरोना से बचे रहेंगे। बढ़ा टीकाकरण, 14998 हुए प्रतिरक्षित

बागपत: जिले में कोरोना का टीकाकरण में अब थोड़ी रफ्तार पकड़ी है। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 14998 लोगों को टीकाकरण किया। किशोर से भी अधिक बूस्टर डोज लगाई गई है। जिले की बात करें छह सीएचसी हैं। इन सभी सीएचसी को लक्ष्य दिया गया था, जिसमें अनुसार टीकाकरण किया गया है। बागपत में जहां 1914, बड़ौत में 6723, बिनौली में 1820, छपरौली में 1231, खेकड़ा में 2050 और पिलाना में 1260 लोगों को टीकाकरण किया गया। किशोरों को जहां 1048 को पहली डोज दी गई, जबकि 1602 लोगों को बूस्टर डोज का टीकाकरण किया गया। सीएमओ डा. दिनेश कुमार ने बताया कि 14998 लोगों को टीकाकरण किया गया है, जबकि लक्ष्य 19800 को टीकाकरण का लक्ष्य था। 75 प्रतिशत टीकाकरण किया गया यह बड़ी उपलब्धि है। उम्मीद है अब इसी तरह टीकाकरण चलेगा।

Edited By: Jagran