बागपत, जेएनएन। सिडिकेट बैक की बावली शाखा के प्रबंधक पर जालसाजी से किसान के खाते से हजारों रुपये निकालने का आरोप लगाया है। मामले को लेकर किसानों ने स्थानीय शाखा पर प्रदर्शन किया और क्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र भेजकर मामले की जांच कराने की मांग की।

पीड़ित 70 वर्षीय वृद्ध किसान सुंदर लाल निवासी रुस्तमपुर बावली ने बताया कि सात नवंबर को उन्होंने अपनी पासबुक में एंट्री कराई तो उसमें 25 सितंबर को 35000 रुपये की निकासी दर्शाई गई, जबकि उसने इस अवधि में अपने खाते से लेनदेन ही नहीं किया। शाखा प्रबंधक से शिकायत की तो उन्होंने 25 सितंबर का निकासी फार्म किसान को दिखाया। आरोप है कि निकासी फार्म पर जाली हस्ताक्षर करके धनराशि निकाली गई है। किसान ने प्रबंधक से सीसीटीवी कैमरों की फुटेज दिखाने की मांग की ताकि फर्जी हस्ताक्षर करने वाले की पहचान हो सके। लेकिन प्रबंधक ने किसानों को फुटेज चेक नहीं कराई। बुधवार को पीड़ित किसान के साथ बैंक शाखा पर पहुंचे ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इस मौके पर अभिलाष तोमर, ओमवीर प्रधान, अजय प्रधान, बिजेपाल, प्रशांत, अक्षय, महेंद्र, रामकिशन तोमर, धनराज, अरुण तोमर, अश्वनी, सौरभ आदि मौजूद थे।

--------

इन्होंने कहा..

किसान का खाता खोलने के दौरान किए गए साइन और निकासी फार्म पर किए गए साइन मैच कर रहे हैं। इसके अलावा किसी भी प्रकार की जांच कराई जा सकती है।

-आशीष अग्रवाल, शाखा प्रबंधक सिडिकेट बैंक बावली

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप