जागरण संवाददाता, बागपत : बेशक लंबे इंतजार के बाद जिले को दिल्ली-सहारनपुर हाईवे की सौगात मिली हो, लेकिन गड्ढों से राहत फिर भी नहीं मिली। बागपत से बुढ़ाना रोड की सड़क पूरी तरह टूटी है। इस पर गहरे गड्ढे हैं। बड़ौत से छपरौली रोड, रमाला से असारा संपर्क मार्ग, बड़ौत-कौताना मार्ग, जौहडी से सिरसली संपर्क मार्ग, किशनपुर से छपरौली संपर्क मार्ग, बागपत से चांदीनगर मार्ग, चमरावल से धोली प्याऊ मार्ग, रटोल से लोनी मार्ग, रटौल वाया मुबारकपुर मार्ग, खासपुर से चांदीनगर एयर फोर्स स्टेशन मार्ग, बिनौली-गलहैता-पुरा मार्ग, पुसार बरनावा मार्ग, पुसार वाया दोघट मार्ग, बिराल मार्ग, भडल वाया धनौरा मार्ग और बरनावा से फौलादनगर मार्ग टूटे हैं। बिनौली से अमीनगर सराय और दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे से निवाड़ा संपर्क मार्ग भी टूटा है। अमीनगर सराय से चिरचिटा रोड की भी ज्यादा अच्छी स्थिति नहीं है। चालू वित्त वर्ष में 210 संपर्क मार्गो की 448 किमी सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त करने का लक्ष्य था, लेकिन 4.83 करोड़ खर्च कर 393 किमी सड़कों को गड्ढा मुक्त किया गया। अभी बागपत में कुछ सड़कों को गड्ढा मुक्त होने का इंतजार है। कई सड़कें ऐसी हैं, जो कागजों पर गड्ढा मुक्त होते ही फिर टूटने लगी है।

विभागवार गड्ढ़ामुक्त सड़कों का ब्योरा

विभाग सड़कें किमी

पीडब्ल्यूडी 135 242.14

मंडी परिषद 002 002.43

जिला पंचायत 002 001.94

आरईएस 030 147.60

हाईवे निर्माण को मिले 1875 करोड़

केंद्रीय सड़क-परिवहन मंत्रालय ने फोर लेन दिल्ली-यमुनोत्री नेशनल हाईवे-709बी घोषित कर निर्माण शुरू कराया है। इसमें दिल्ली से सहारनपुर तक 154 किमी बनाने पर 1505.72 करोड़ खर्च होगा। बागपत से शामली तक फोरलेन हाईवे की लंबाई 61.409 किमी है, जिसके निर्माण पर 726.33 करोड़ खर्चा आएगा। फिलहाल निर्माण कार्य चल रहा है और जो कुछ माह में पूरा हो जाएगा। वहीं बागपत मेरठ हाईवे निर्माण की अड़चनें दूर होने के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इस हाईवे का मेरठ से बागपत के निवाड़ा यमुना पुल यानी हरियाणा सीमा तक 43.780 किमी तक निर्माण कराएगा। गत 20 फरवरी को केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी इसका शिलान्यास कर चुके हैं। इसके निर्माण पर 371.37 करोड़ खर्च आएगा।

इनका कहना है..

दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे का निर्माण चल रहा है जिसे निर्धारित समय में पूरा करा लिया जाएगा। बागपत-मेरठ मार्ग का निर्माण कार्य भी जल्द शुरू हो जाएगा।

एसके मिश्रा, परियोजना निदेशक, एनएचएआइ।

हमने शासन के आदेशानुसार सड़कों को गड्ढा मुक्त कराने का काम कराया। बागपत में करीब 400 किमी सड़कें गड्ढा मुक्त हो चुकी हैं।

पीसी जायसवाल, मुख्य विकास अधिकारी।

नेताजी कहिन..

भाजपा की सरकारों ने बागपत की सड़कों के निर्माण का जितना काम कराया, उतना काम पिछले पचास साल में भी नहीं हुआ।

- प्रदीप ठाकुर, भाजपा नेता

बागपत में कहीं सड़कें नहीं बनी। शिलान्यास के सिवा कुछ नहीं हुआ। दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे नहीं बना। चुनाव में जनता जवाब देगी।

- ओमबीर ढाका, रालोद नेता।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप