बागपत, जेएनएन। बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व विजयदशमी क्षेत्र में धूमधाम से बनाया गया। विजयदशमी का जुलूस बैंड बाजों व मनमोहक झांकियों का साथ निकाला गया, जिसके उपरांत रावण, मेघनाथ व कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया गया और वे धूं-धूं कर जल उठे।

मंगलवार को विजयदशमी का जुलूस श्री ठाकुर द्वारा प्रेम मंडल कमेटी के तत्वावधान में श्री ठाकुर द्वारा मंदिर से प्रारंभ होकर शहर की प्रमुख मार्गों से होता हुआ दिगंबर जैन कालेज के सी फिल्ड में पहुंचा, जहां विशालकाय रावण, मेघनाथ व कुंभकर्ण के पुतलों के सामने रावण सेना के साथ श्रीराम सेना का युद्ध हुआ। बाद में श्रीराम बने कलाकार ने विशालकाय रावण के पुतले की नाभि में अग्निबाण मारकर उसका दहन किया। मैदान में मेले का भी आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में बच्चों ने खिलौने खरीदे और बड़ों ने चाट-पकौड़ी का आनंद लिया। सुरक्षा की ²ष्टि से मेले में भारी बल बल तैनात रहा। उधर, बिनौली में विजयदशमी का जुलूस बैंडबाजों व झांकियों के साथ धूमधाम से निकाला गया। जुलूस श्री प्रेम मंडल रामलीला कमेटी के तत्वाधान में शिव मंदिर प्रांगण से शुरू हुआ, जिसमें राम लक्षमण, सीता, हनुमान, वानर सेना, रावण, कुंभकर्ण, मेघनाथ व राक्षसों की सेना की झांकियां शामिल थीं। जुलूस पूरे गांव में भ्रमण कर मुख्य बाजार से होते हुए बस स्टैंड पर पंहुचा। यहां पर राम व रावण के बीच द्वंद युद्ध हुआ, जिसमें राम ने रावण को अग्नि बाण मारकर मार गिराया। इसके बाद रावण, मेघनाद, कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया गया। जिसे देखने के लिए बस स्टैंड पर क्षेत्रवासियों का भारी जनसैलाब था। जुलूस में संरक्षक राहुल धामा, अध्यक्ष गुलबीर धामा, देवेंद्र धामा, महेशपाल धामा, सुनील धामा, श्रीपाल धामा, विनय धामा, पिकू, अनिल धामा, परमवीर, प्रताप, तेजपाल, विवेक धामा, वरुण धामा, मनोज धामा, राकेश विश्वकर्मा, रवि भाटिया, राहुल देव, राकेश विश्वकर्मा, अजय शर्मा, अमित, गुड्डू उपाध्याय आदि रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस