बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। श्रद्धा वालकर हत्याकांड को लेकर इंटरनेट मीडिया पर विवादित वीडियो प्रसारित करने वाला आरोपित राशिद खान नहीं है, बल्कि विकास कुमार है। मुस्लिम गुट में मजदूरी करने के लिए उसने अपना नाम बदला था। सिकंदराबाद पुलिस ने उसे लालकिले के पास से गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। श्रद्धा हत्याकांड को लेकर इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित वीडियो में विकास ने राशिद खान बनकर शव के 35 के बजाए 36 टुकड़े करने की बात कही थी। सिकंदराबाद पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। एसएसपी ने तीन टीमें गठित कर आरोपित की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे।

असली नाम व‍िकास कुमार है

पूछताछ में उसने बताया कि उसका असली नाम विकास कुमार है। सीओ सिकंदराबाद ने बताया, विकास लाल किले के आसपास लगने वाले मेलों में छोटे-बड़े खेलों के टिकट बेचकर 250 से 300 रुपये कमा लेता था, जिसमें एक दर्जन मुस्लिम युवक जुड़े हुए हैं। ऐसे में उसने भी अपना नाम बदलकर राशिद खान रख लिया था। दिल्ली में वह राशिद नाम से जाना जाता है और गांव वाले उसे विकास के नाम से जानते हैं। दो वर्ष पूर्व चोरी की दो घटनाओं में विकास जेल गया था। गौतमबुद्धनगर में भी विकास के खिलाफ चोरी और अवैध हथियार रखने के तीन मुकदमे दर्ज हैं।

बोला विकास, अब मेरा मरना तय

पुलिस गिरफ्त में आए विकास कुमार ने बताया, उसके साथी भी इंटरनेट मीडिया पर अपनी बात कह रहे थे, मुझे नहीं पता था कि ऐसा कहने पर वह किसी पचड़े में पड़ जाएगा। उसे पता होता तो वह ऐसी बात ही नहीं करता। उसने कहा, ऐसे बयान देने पर उसे कोई भी मार सकता है। वह बाहर रहे या जेल में, उसका मरना तय है। 

Edited By: Taruna Tayal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट