जेएनएन, बागपत। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया गया है। हेल्थकैंप का आयोजन किया गया, जिसमें डीएम राजकमल मुख्य अतिथि रहे। उन्होंने कैंप का शुभारंभ करते हुए डाक्टरों को निर्देशित किया मरीजों को सही सलाह देंगे और ठीक से इलाज करेंगे। उसके बाद जागरूकता रैली हो हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

डीएम राजकमल यादव ने कहा कि अल्जाइमर एक भूलने की बीमारी है। इस रोग की चपेट में अधिकांश बुजुर्ग आते हैं। किसी में भूलने की बीमारी हो जाती है, तो उनका सही देखभाल करने की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है। उनका उपचार करने के लिए डाक्टरों का भी दायित्व बढ़ जाता है। निर्देश दिए की ऐसे बुजुर्गों की सही प्रकार से काउंसिलिग करेंगे और उनका मार्गदर्शन कर इलाज करेंगे। कैंप में डीएम ने शुगर की भी जांच कराई। डीएम ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया है। सीएमओ डा. दिनेश कुमार ने कहा कि मस्तिष्क की कोशिकाओं को नष्ट करने वाला यह मर्ज बुजुर्गों में बेहद आम है। इसमें याददाश्त में कमी होने से मरीज का व्यवहार भी अनियमित हो जाता है। अमूमन 60 साल की उम्र के बाद सामने आने वाला यह रोग 50 साल की उम्र में भी देखने को मिल रहा है। काउंसिलिग और इलाज से काफी हद तक इस पर काबू पाया जा सकता है। लापरवाही करने पर कुछ ही समय में मरीज असामान्य हो जाता है। जैसे किसी मुद्दे पर हंसते, मुस्कुराते, बातचीत करते हुए अचानक गुस्सा हो जाना या किसी भी समय बिना बात के यूं ही घर से निकल जाना। नोडल अधिकारी डा. अजेंद्र मलिक ने बताया कि अल्जाइमर दिवस पर 75 मरीजों का उपचार कर उन्हें क्या सावधानियां बरतने के लिए जागरूक किया। मानसिक रोग विशेष डा. अजय, मनीष कुशवाह, विनीत कुमार, हरेंद्र सिंह, हिना, कृष्णा आदि मौजूद रहे।

---------

सिटी स्कैन यूनिट का डीएम ने किया निरीक्षण

--डीएम राजकमल यादव ने जिला अस्पताल में सिटी स्कैन यूनिट का निरीक्षण किया। यहां मरीजों से सिटी स्कैन के बारे में जानकारी ली। वहीं कर्मचारियों को निर्देशित किया है जरूरतमंदों को इसका लाभ मिलना चाहिए। जिस व्यक्ति को जो मर्ज है, उसकी सही रिपोर्ट दी जाए। सिटी स्कैन में ज्यादा जल्दबाजी न की जाए।

Edited By: Jagran