बागपत : अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज व जौहड़ी गांव की बेटी सीमा तोमर ने छठी एशियन शू¨टग चैंपियनशिप में व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत और टीम में स्वर्ण पदक जीताकर विदेशी धरती पर फिर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। एक साथ दो पदक जीतने पर जौहड़ी सहित पूरे जिले में खुशी का माहौल है।

संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी आबू धाबी में आयोजित शू¨टग चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज व जौहड़ी गांव की सीमा तोमर भी कर रही हैं। सीमा ने बुधवार को ट्रैप शू¨टग में व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत व टीम में शामिल होकर स्वर्ण पदक जीता। इस खुशी में सीमा के परिजनों ने मिठाइयां बांटी।

सीमा की मां व वयोवृद्ध निशानेबाज प्रकाशो तोमर ने बताया कि बेटी ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक साथ दो पदक देश की झोली में डाले हैं। इससे पहले भी सीमा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण, रजत और कांस्य के पदक जीत चुकी हैं। सीमा ने बताया कि व्यक्तिगत वर्ग में स्वर्ण पदक कुवैत और कांस्य पदक लेबनॉन ने जीता है, जबकि टीम स्पर्धा में रजत पदक कुवैत और कांस्य पदक कतर की टीम ने जीता है। उनके साथ टीम में राजेश्वरी और श्रेयसी ¨सह शामिल रहीं।

सेना की ओर से खेलती हैं सीमा

सीमा तोमर जौहड़ी गांव की रहने वाली हैं, जो सेना की ओर से खेलती हैं। सीमा ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तीन स्वर्ण, सात रजत और दो कांस्य पदक जीते हैं, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर 19 स्वर्ण, नौ रजत और छह कांस्य पदक जीते हैं। यानी वह राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 46 पदक जीत चुकी हैं।