बदायूं : पथरी का ऑपरेशन कराने निजी नर्सिग होम गई महिला की सोमवार देर शाम मौत हो गई। आक्रोशित परिजनों ने दूसरे दिन मंगलवार सुबह नर्सिग होम के सामने शव रखकर हंगामा किया। इस दौरान वहां का शीशा भी तोड़ दिया गया। भीड़ के तेवर देख डॉक्टर समेत अन्य स्टाफ खिसक गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालात संभाले। ऑपरेशन करने वाले दो डॉक्टर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। इधर, दोपहर बाद महिला के पोस्टमार्टम के वक्त जिला महिला अस्पताल के डॉक्टर हाकिम सिंह वहां पहुंचे तो भीड़ ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हेराफेरी का आरोप लगाते हुए दौड़ाकर पीटा। डॉक्टर की ओर से भी तहरीर पुलिस को दी गई है।

शहर के मोहन कॉलोनी निवासी धीरेंद्र उपाध्याय ने अपनी पत्नी पूजा उपाध्याय को पथरी के ऑपरेशन के लिए इंदिरा चौक स्थित डॉ. बीआर गुप्ता के रामा क्लीनिक में सोमवार सुबह लगभग साढ़े नौ बजे भर्ती किया था। मुकदमे के मुताबिक, ऑपरेशन के वक्त पूजा की हालत बिगड़ गई तो डॉक्टर समेत स्टाफ के हाथ-पांव फूल गए। डॉक्टर ने पूजा को बेहोशी की हालत में बिना कोई प्रपत्र दिए अपने स्टाफ के साथ बरेली के गंगाचरण अस्पताल भेज दिया। वहां पहुंचने पर पूजा को मृत घोषित कर दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पूजा के पेट में खून भरा मिला, जो मौत की वजह माना जा रहा है। पुलिस ने शव कब्जे में लेने के साथ ही पति की तहरीर पर ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर अनमोल गुप्ता व डॉ. पारुल गुप्ता के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस