बदायूं : शहर में रहने वाली एक महिला शनिवार दोपहर अपने दो मासूम बच्चों को घर पर छोड़कर चली गई। देर शाम तक महिला नहीं लौटी तो बच्चों ने रोना-चिल्लाना शुरू कर दिया। इस पर आसपास की भीड़ एकत्र हो गई। मकान मालिक की खबर पर पहुंची पुलिस मकान मालिक को कोतवाली ले आई। बाद में बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन को सौंपा गया है। सदर कोतवाली इलाके के मुहल्ला शहबाजपुर निवासी दानिश के घर पर 10 दिन पहले एक महिला अपने दो बच्चों के साथ बतौर किराएदार रहने आई थी। शनिवार दोपहर महिला किसी को कुछ बताए बगैर घर से चली गई। जबकि उसके तीन से चार साल उम्र के एक बेटा और एक बेटी घर में अकेले रह गए। देर शाम तक महिला नही लौटी तो इन बच्चों ने रोना शुरू कर दिया। मकान मालिक ने जाकर पूछताछ की लेकिन बच्चे लगातार रोए जा रहे थे। महिला का मोबाइल भी स्विच आफ आने लगा। कुछ देर में ही आसपास इलाके के लोग भी मौके पर पहुंच गए। बाद में पुलिस को बुला लिया गया। पुलिस ने दानिश को कोतवाली ले आई। जबकि बच्चों को वहां के एक संभ्रांत व्यक्ति को सौंप दिया। कुछ देर बाद चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम को भी बुला लिया गया और लिखापढ़ी में दोनों बच्चे दे दिए गए। सदर कोतवाल ओमकार ¨सह ने बताया कि बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन के सुपुर्द कर दिया है। महिला यहां लौटेगी तो उससे पूछताछ की जाएगी।

रात में आन हुआ मोबाइल

रात तकरीबन नौ बजे महिला का मोबाइल स्विच आन हुआ तो पुलिस ने उससे संपर्क साधा। महिला ने बताया कि वह ब्लाक स्तर पर समूह बनाने का काम करती है और अभी हरदोई चली आई है। सुबह ही वापस लौटेगी।

Posted By: Jagran