संसू, उझानी : कमिश्नर रणवीर प्रसाद व डीएम कुमार प्रशांत ने गुरुवार को नरऊ गांव पहुंचकर वहां खोदे जा रहे कच्चे नाले को देखा। इस दौरान कमिश्नर ने नगर पालिका के ईओ को दूषित पानी बदलने को प्लांट व पौधे लगाने का निर्देश दिया। ताकि नगर के लोग इस पानी को कपड़े व गाड़ी आदि धोने के उपयोग में ला सकें। किसान भी फसलों की सिचाई कर सकें। कहा कि पौधे दूषित पानी को बदलने में सहायक साबित होंगे। पालिका से रोजाना गांव में एक वाटरटैंक भेजने का भी निर्देश दिया। गांव वालों ने अलग से एक नलकूप बनवाने की मांग भी उठाई। ग्रामीणों ने आयुक्त को अवगत कराया कि शहर के बीचो-बीच चिप्स बनाने का कार्य हर साल किया जाता है। यह कार्य प्रत्येक वर्ष होली के ही दिनों में शुरू होता है, जिससे कैमिकल मिश्रित जल नालियों से गुजरता है इससे भी विभिन्न प्रकार के रोग फैलते हैं। आयुक्त ने ईओ उझानी को ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि वाटर प्यूरिफायर प्लांट लगाकर शहर के गंदे पानी को शुद्ध किया जाए, साफ पानी मिल सके। आयुक्त ने ग्रामीणों से कहा कि भयभीत होने की जरूरत नहीं है। स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए। पानी को उबालकर साफ करके पिएं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस