दायूं : जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से दीवानी न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत लगाई गई। प्राधिकरण अध्यक्ष जिला जज डॉ.अजय कृष्ण विश्वेश की अध्यक्षता में 2668 मामले सुलझाए गए।

जिला जज ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर लोक अदालत का शुभारंभ किया। न्यायिक अधिकारियों ने सुलह-समझौते के आधार पर वादों का निस्तारण कराया। निस्तारित 2668 वादों में 362 प्री-लिटीगेशन के मामले विभिन्न बैंकों से संबंधित रहे। 36 मामले भारत संचार निगम, जलकर के 21 मामले तथा स्थानीय निकायों के 1527 मामले निस्तारित हुए। इन वादों में तीन करोड़ 31 लाख 17 हजार, 572 रुपये के वाद निस्तारित हुए हैं। इनके अलावा विभिन्न न्यायालयों में लंबित 722 वाद जिनमें 371 फौजदारी, 100 विद्युत अधिनियम, 23 श्रम वाद, 18 मोटर दुर्घटना, 11 वैवाहिक, 62 दीवानी वाद तथा 136 अन्य वादों का निस्तारण कराकर 77 लाख चार हजार 162 रुपये की धनराशि के मामलों का निपटारा कराया गया। 11 पति-पत्नी के मामलों का भी सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारण कराया गया। सभी को माला पहनाकर उनके घर भेजा गया। लोक अदालत में जिला जज के अलावा जिला एवं सत्र न्यायाधीश अशोक कुमार, राजकुमार ¨सह, पंकज कुमार अग्रवाल, विनोद कुमार, अंगद प्रसाद, देवराज प्रसाद ¨सह, मधूलिका चौधरी, डॉ.कपिला राघव, परवेंद्र कुमार शर्मा, विजय राजे सिसौदिया, सोनिका चौधरी, अमरजीत, स्नेह लता ¨सह, कुंदन किशोर व प्राधिकरण के सचिव राकेश कुमार तिवारी समेत सभी न्यायिक अधिकारी व संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran