बदायूं, जेएनएन : जिला प्रशासन के सख्ती के बावजूद माफिया गेहूं खरीद में धांधली करने से बाज नहीं आ रहे है। गुरुवार शाम मंडी समिति स्थित आरएफसी के केंद्र पर एक माफिया लगभग 75 क्विटल घुने गेहूं लेकर पहुंचा। बोरे में नमक के डेले भी पड़े हुए थे। मानयीय के फोन पर माफिया जबरन गेहूं तौल करने की धमकी दे रहा था। जानकारी पर पहुंचे एसडीएम सदर लाल बहादुर एवं डिप्टी आरएमओ प्राकाश नारायण ने गेहूं की जांच की। फिर अफसरों ने गेहूं की तौल से मना कर दिया। एसडीएम ने माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देश दिए हैं।

किसानों की सहूलियत के लिए जिले में खुले 121 गेहूं खरीद केंद्र इस वर्ष धांधली के अड्डे बन गए। माफिया व बिचौलिया बिना लक्ष्य के हुई खरीद का फायदा उठाया। उन्होंने हजारों क्विटल गेहूं दूसरे किसानों के दस्तावेजों पर केंद्रों पर डाल दिया। लेकिन, माफिया गेहूं खरीद के बचे दिनों में भी बाज नहीं आ रहे हैं। गुरुवार शाम एक माफिया 75 क्विटल गेहूं लेकर मंडी समिति के आरएफसी द्वितीय केंद्र पर पहुंचा। यहां केंद्र प्रभारी ने गेहूं का नमूना लिया। गेहूं में घुन लगे थे। जांच में गेहूं पुराना निकला। बावजूद माफिया दस्तावेजों के सहारे गेहूं तौल की जबरदस्ती करने लगा। केंद्र प्रभारी ने तौल से मना कर दिया। इस पर माफिया ने एक माननीय को फोन लगा दिया। फिर केंद्र प्रभारी से बात कराते हुए तौल की धमकी देने लगा। केंद्र प्रभारी ने साफ तौर पर कह दिया गेहूं पुराने व घुन लगे हैं। इसकी तौल मुश्किल है। लेकिन, माफिया नहीं माना। इस पर केंद्र प्रभारी ने एसडीएम सदर को मामले की जानकारी दी। इस पर एसडीएम मंडी समिति पहुंचे। उन्होंने भी गेहूं का नमूने लेकर जांच की तो पुराना निकाला। गेहूं के बोरे को जमीन पर पलटवाया गया तो उसमें नमक के डेले निकले। इससे साफ हो गया कि गेहूं काफी पुराना है। उन्होंने माफिया को हिदायत देते हुए गेहूं तौल से मना कर दिया। उन्होंने माफिया को फिर गड़बड़ी की कोशिश पर कार्रवाई की चेतावनी दी। वर्जन ::

केंद्र प्रभारी की शिकायत पर मौके पर गए थे। पुराना घुन लगा गेहूं निकला था। गेहूं का नमूना लेने के बाद उसे तौल से मना कर दिया था। पहले भी इस तरह की शिकायत मिलने पर गेहूं लौटाया था। इस मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

- लाल बहादुर, एसडीएम सदर

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप