बदायूं : श्री गणेश चतुर्थी पर्व को लेकर कबूलपुरा में दो समुदायों के बीच हुए तनाव को देर रात सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी ने खत्म करा दिया। अब दोनों समुदायों के लोग उस जमीन पर अपने धार्मिक काम करेंगे और कोई एक-दूसरे के काम में विघ्न नहीं डालेगा। दोनों पक्ष इस पर तैयार हो गए। अब यहां गणेश प्रतिमा लगेगी और कार्यक्रम भी होगा।

सदर कोतवाली इलाके के कबूलपुरा मोहल्ले में एक खाली जमीन को लेकर दो पक्षों के बीच कोर्ट में वाद चल रहा है। वहीं इस जमीन पर जहां मुहर्रम के दौरान एक समुदाय के लोग अपना कार्यक्रम करते थे। वहीं गणेश चतुर्थी पर दूसरे समुदाय के लोग अपना सात दिवसीय कार्यक्रम करता आ रहा है। इसके अलावा इलाके में होने वाली शादी या अन्य किसी समारोह में भी कोई भी उस जमीन को उपयोग में ले लेता था। पिछले साल यहां गणेश चतुर्थी के बाद मुहर्रम के कार्यक्रम का एक समुदाय ने विरोध किया था। जबकि मंगलवार को श्रीगणेश चतुर्थी के कार्यक्रम की तैयारी के दौरान इस बार दूसरे समुदाय ने ऐतराज जताया। मामला कुछ देर में ही तूल पकड़ गया और भीड़ जमा हो गई। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और दोनों पक्षों को समझाकर शांत किया गया। वहीं सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी राघवेंद्र ¨सह भी मौके पर पहुंचे और दोनों पक्षों के मोअज्जिज लोगों को बैठाकर वार्ता शुरू कर दी। देर रात दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हो गए कि यहां पहले कि तरह कार्यक्रम हुआ करेंगे, कोई भी समुदाय दूसरे समुदाय के कार्यक्रम में बाधा उत्पन्न नहीं करेगा। लिखित समझौते के बाद स्थिति स्पष्ट होने से तनाव खत्म हो चुका है। हालांकि अहतियात के तौर पर इस इलाके की निगरानी पुलिस ने बढ़ा दी है। दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया है। अब माहौल शांत है और श्रीगणेश चतुर्थी का कार्यक्रम संपन्न कराया जाएगा। मुहर्रम का कार्यक्रम भी होने पर कोई विरोध नहीं करेगा। खुराफात करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- राघवेंद्र ¨सह, सीओ सिटी

Posted By: Jagran