बदायूं, जेएनएन : टीकाकरण के विशेष अभियान के 23 वें दिन शुक्रवार को नया रिकार्ड बना। जिले में बने 126 केंद्रों पर 11,614 लोगों को वैक्सीन लगी। इनमें 1,574 लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज ली। स्वास्थ्य विभाग के पास अभी भी 7,500 वैक्सीन उपलब्ध है। डिमांड भेजी है। उम्मीद है कि देर रात तक वैक्सीन की खेप स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध हो जाएगी।

एक जुलाई से शुरू हुए टीकाकरण विशेष अभियान में अपेक्षित वैक्सीन न उपलब्ध होने पर टीकाकरण की रफ्तार बढ़ नहीं पा रही थी। टीकाकरण का आंकड़ा पांच से छह के बीच में ही सिमट रहा था। जबकि केंद्रों की संख्या भी नहीं बढ़ पा रही थी। हालांकि, इस माह के शुरूआत के सप्ताह में दो दिन तक टीकाकरण का आंकड़ा दस हजार के पार हुआ। इसके बाद वैक्सीन की उपलब्धता अपेक्षित नहीं हो सकी। जिससे टीकाकरण की रफ्तार धीमी पड़ गई। गुरुवार की शाम स्वास्थ्य विभाग को वैक्सीन की 17,500 डोज उपलब्ध हो गई थी। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने केंद्रों की संख्या बढ़ाकर अधिक से अधिक टीकाकरण के लिए कमर कस ली थी। नतीजन शुक्रवार को टीकाकरण ने पूर्व के सभी रिकार्ड तोड़ दिए। 11,614 लोगों के टीकाकरण की संख्या अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। डीआईओ डा. मोहम्मद असलम ने बताया कि, वैक्सीन की उपलब्धता पर ही टीकाकरण की रफ्तार टिकी है। उम्मीद है, देर रात तक और वैक्सीन की डोज मिल जाए तो शनिवार को केंद्रों की संख्या और बढ़ाकर टीकाकरण को सार्थक बनाया जा सकेगा। ------------------------

साप्ताहिक लक्ष्य पूरा करने में आड़े आ रही वैक्सीन

जागरण संवाददाता, बदायूं : कोरोना टीकाकरण में वैक्सीन आपूर्ति की कमी खल रही है। इससे जिला टीकाकरण का साप्ताहिक लक्ष्य पूरा करने में पिछड़ रहा है। जुलाई में टीकाकरण के विशेष अभियान की रफ्तार भी धीमी रही। स्वास्थ्य विभाग ने निर्धारित लक्ष्य के आंकड़े को छूने की भरपूर कोशिश की। लेकिन, वैक्सीन की कमी ने तैयारियों पर पानी फेर दिया। एक जुलाई से अब तक दो बार 10 हजार का आंकड़ा पार किया जा सका है।

टीकाकरण के शुरू में स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस समेत 45 वर्ष के ऊपर के व्यक्तियों को टीका लगा। तब जागरूकता की कमी से कम ही लोगों ने टीके लगवाए। फिर जुलाई में क्लस्टर व रूटीन टीकाकरण से विशेष अभियान चलाया। शासन ने 10 हजार प्रतिदिन टीकाकरण का लक्ष्य रखा। लेकिन, वैक्सीन की उपलब्धता स्वास्थ्य विभाग को धोखा दे गई है। छह और सात जुलाई के बीच क्लस्टर अभियान में स्वास्थ्य टीमों ने गांव में घर-घर जाकर टीका लगाना शुरू किया। स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण का ग्राफ बढ़ाने के लिए कमर कसी, मगर एक बार फिर वैक्सीन की कमी पैदा हो गई। क्लस्टर अभियान को रोक रूटीन टीकाकरण किया जाने लगा।

प्रति सप्ताह मिलता है नया लक्ष्य

डीआईओ डा. मोहम्मद ने बताया, टीकाकरण का लक्ष्य साप्ताहिक आता है। इस सप्ताह का लक्ष्य दस हजार प्रतिदिन है। लेकिन, इसमें वैक्सीन की उपलब्धता की कमी है। वैक्सीन उपलब्धता पर अगले दिन टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ा दी जाती है। अब तक के टीकाकरण का आंकड़ा

जिले में अभी तक कुल 4,54,911 वैक्सीन की डोज लग चुकी है। जिसमें 3,84,052 लोग पहली डोज ले चुके है। जबकि 7,49,37 लोग दूसरी डोज ले चुके है। जिनमें 18 से 44 साल के लोग 16,3525 शामिल है तो वहीं, 45 से 60 साल के लोग 15,5281 शामिल है। 1,36,105 लोग 60 साल से ऊपर के है। टीकाकरण में पुरूषों की संख्या 2,50,159 है। जबकि महिलाओं की संख्या 2,04,652 है। इस सप्ताह 43,855 लोगों का टीकाकरण हुआ है।

Edited By: Jagran