बदायूं : दिव्यांग बच्चों को आवासीय शिक्षा देने के लिए सर्व शिक्षा अभियान के समेकित शिक्षा के अंतर्गत हर वर्ष मथुरिया चौक स्थित प्राथमिक विद्यालय परिसर में प्री-एक्सीलेरेटेड लर्निंग कैंप संचालित किया जाता है, लेकिन इस बार बेसिक शिक्षा विभाग की लापरवाही की वजह से समय से कैंप शुरु नहीं किया गया। कैंप एक अगस्त से शुरु किया जाना था, लेकिन शुरु करने के लिए कोई गंभीरता नहीं बरत रहा है। इससे तो यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि बेसिक शिक्षा विभाग को दिव्यांग बच्चों से जरा भी सरोकार नहीं है। कैंप के चयनित भवन गंदगी से पटा पड़ा है। गेट से प्रवेश करते समय गंदगी, बदबूदार नाली के पास से आना पड़ता है और भीतर जाकर काई खाई हुआ परिसर नजर आता है। जिसमें सीलन की बदबू आती रहती है। हर वर्ष 10 महीने के लिए चलाया जाने वाला कैंप अब 8 महीने तक 31 मार्च तक चलाया जाएगा। इस बार 60 दिव्यांग बच्चों को ही आवासीय शिक्षा दी जाएगी। सितंबर महीने चल रहा है, अभी तक न तो कैंप की फाइल का अनुमोदन हुआ है और न ही टेंडर के लिए चयनित संस्था का और न ही स्टाफ की भर्ती का। विभाग के अनुसार फाइल सीडीओ व डीएम के अनुमोदन का इंतजार कर रही है।

कब्जे की वजह से होता है जलभराव

शुरुआती समय में कैंप परिसर में जलभराव होने की वजह से संचालन शुरु न करने की बात कही जाती रही। इस बात की जानकारी सभी को है कि यह जलभराव कैसे होता है। कैंप के पीछे बहने वाले नाले के ऊपर कब्जा होने की वजह से पानी का निकास नहीं होता और परिसर में भर जाता है। कई बार शिकायत होने के बाद भी नगर पालिका ने कार्रवाई नहीं की। दिव्यांगों के कैंप के लिए तैयारियां चल रही हैं। जल्द ही फाइलों का अनुमोदन होने के बाद कैंप का संचालन कराया जाएगा।

- राम मूरत, प्रभारी बीएसए

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस