जेएनएन, बदायूं: अढ़ौली रेलवे क्रॉसिग से ई-रिक्शा बुक कर ले जाने वाले आरोपितों ने चालक का ई रिक्शा लूटने के अलावा उसके साथ कुकर्म भी किया था। बाद में गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया गया। पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात का 24 घंटे के अंदर ही वर्कआउट करते हुए दोनों आरोपितों को जेल भेजा है।

अढ़ौली निवासी अनुसूचित जाति के नाबालिग ई रिक्शा चालक को गुरुवार दोपहर में दो लोग रिक्शा बुकिग पर ले गए थे। शुक्रवार को कादरचौक थाना क्षेत्र के गांव भूड़ा भदरौल के जंगल में उसकी लाश मिली तो उझानी कोतवाली क्षेत्र के बुटला गांव के पास से उसका ई रिक्शा मिला था। उसकी बैट्री कातिल निकाल चुके थे। कुछ ही दूरी पर शातिरों ने उसके रुमाल और मोबाइल को फेंक दिया था। पुलिस ने संदेह के आधार पर दो लोगों को हिरासत में लिया, जिनसे पूछताछ करने पर वारदात का राजफाश किया गया। पुलिस की गिरफ्त में आए उझानी के मिल कंपाउंड निवासी अर्जुन प्रजापति, श्रीराम नगर कॉलोनी निवासी अर्पित शर्मा उर्फ धर्मेंद्र से सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना गुनाह कबूल कर लिया। उन्होंने बताया कि ई रिक्शा लूटने के साथ ही कुकर्म भी किया था। इसके बाद वह ई रिक्शा वहां से लेकर आए और उसकी बैट्री निकालकर बेच दी। पुलिस ने हत्या, कुकर्म, पॉक्सो एक्ट समेत संबंधित धाराओं में मुकदमे को तरमीम किया। इससे पूर्व पुलिस पर कार्रवाई में टाल मटोल का आरोप लगाते हुए महिलाओं के साथ ग्रामीण डीएम आवास पर पहुंच गए थे। एडीएम और एसपी सिटी ने उन्हें समझाकर शांत कराया।

वर्जन ..

कुकर्म के बाद ई रिक्शा चालक की हत्या कर आरोपित वहां से ई रिक्शा लेकर फरार हो गए थे। पुलिस ने हर बिदु पर तहकीकात करने के बाद सभी सामान बरामद करते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

- अनिरुद्ध सिंह, सीओ, उझानी

Edited By: Jagran