बदायूं : बिजली चोरी के मुकदमे अलग थाने में दर्ज कराकर उनकी विवेचना के लिए अलग से बनाए जा रहे बिजली थाने के लिए संसाधन एकत्र करने में पॉवर कारपोरेशन के अधिकारी जुटे हुए हैं। पुलिस टीम के लिए वाहन समेत कम्प्यूटर व फर्नीचर आदि की व्यवस्था टेंडर के माध्यम से कराने की तैयारी चल रही है। जिम्मेदारों का कहना है कि अगले महीने बिजली थाना शुरू हो जाएगा, इसी के साथ चे¨कग अभियान को विजिलेंस भी पहुंचेगी। उसावां रोड स्थित विद्युत वितरण खंड कार्यालय के टिनशेड के भीतर बिजली थाना बनाया जा रहा है। दीवारों की चुनाई और खिड़की, दरवाजे लगने का काम भी हो चुका है। केवल ¨लटर और फर्श का काम शेष रह गया है। थाने में भले ही पुलिस की तैनाती होगी लेकिन उन पुलिसकर्मियों का वेतन समेत अन्य संसाधन पॉवर कारपोरेशन ही मुहैया कराएगा। थाने में कम्प्यूटर सिस्टम, पुलिसकर्मियों के बैठने और ठहरने की व्यवस्था समेत स्टेशनरी, गाड़ी और मैस आदि की व्यवस्था पॉवर कारपोरेशन को करना है। इसके लिए अधिकारियों ने बैठक करके टेंडर के माध्यम से सारी व्यवस्थाएं कराने का फैसला लिया है। इंसेट

15 पुलिसकर्मी होंगे तैनात

अधीक्षण अभियंता मधुप कुमार ने बताया कि नए थाने में एक इंस्पेक्टर के अलावा चार दारोगा, छह सिपाही व महिला सिपाही समेत लगभग 15 पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी। इन पुलिसकर्मियों का वेतन भी पॉवर कारपोरेशन द्वारा ही दिया जाएगा। वहीं विजिलेंस की टीम भी यहां समय-समय पर पहुंचकर अभियान के बाद मुकदमे दर्ज कराएगी। इन मुकदमों का निस्तारण कराकर राजस्व वसूली कराने की जिम्मेदारी पॉवर कारपोरेशन की ही रहेगी। वर्जन ::

उम्मीद है कि एक फरवरी से थाना शुरू हो जाएगा। बि¨ल्डग लगभग तैयार है। जो भी काम शेष है, वह युद्धस्तर पर चल रहा है। आने वाले दिनों में पुलिस टीम को संसाधन भी मुहैया कराने की तैयारी चल रही है।

- मधुप कुमार, अधीक्षण अभियंता

------------------------------

Posted By: Jagran