बदायूं, जागरण संवाददाता: माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं का कार्यक्रम घोषित हो चुका है। 104 सेंटरों पर परीक्षा कराने की तैयारी की जा रही है। नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए इस बार उत्तर पुस्तिकाओं में बदलाव हुआ है। इस बार पंच की हुई उत्तर पुस्तिकाओं के इतर सिलाई की हुई पुस्तिकाएं मिलेंगी। हर पेज पर माध्यमिक शिक्षा परिषद का लोगो छपा होगा। इससे पेज बदलने की गुंजाइश खत्म हो जाएगी। पेपर की भी कमी नहीं होगी। इस बार 10 प्रतिशत पेपर अधिक दिए जा रहे हैं। 

बोर्ड परीक्षा को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक डा.प्रवेश कुमार से जागरण के साथ विस्तार से बातचीत की। पिछली साल जो कमियां उजागर हुई थीं, उन्हें पहले ही दूर कर लिया गया है। डीआइओएस से बातचीत के प्रमुख अंश-

प्रश्न : बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने के लिए इस बार क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

उत्तर : अब बोर्ड परीक्षा में नकल की संभावना बहुत कम हो चुकी है। हर कक्ष में सीसीटीवी कैमरे और वायस रिकार्डर लगाए जा चुके हैं। इस बार पंच की हुई उत्तर पुस्तिकाओं से अलग सिलाई की हुई पुस्तिकाएं मिलेंगी, हर पेज पर माध्यमिक शिक्षा परिषद का लोगो छपा होगा।

प्रश्न : पिछली साल पेपर के बंडल खुले होने का मामला आया था, इस बार क्या व्यवस्था बदली गई है?

उत्तर : हर केंद्र पर केंद्र व्यवस्थापक के अलावा स्टेटिक मजिस्ट्रेट और अतिरिक्त मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। पेपर तीनों अधिकारियों की मौजूदगी में रिसीव किए जाएंगे और डबल लाक में रखे जाएंगे। जिस दिन से उत्तर पुस्तिकाएं सेंटर पर पहुंच जाएंगी और आखिरी पेपर की परीक्षा तक का सीसीटीवी रिकॉर्ड सुरक्षित रखा जाएगा।

प्रश्न : डबल लॉक का सिस्टम पहले की तरह रहेगा या कोई बदलाव हुआ है?

उत्तर : पहले प्रधानाचार्य के कक्ष में ही डबल लाक बन जाया करता था, लेकिन इस बार बिल्कुल अलग कक्ष को डबल लाॅकर बनाया गया है। उसके खिड़की, दरवाजे भी सील रहेंगे। सेक्टर मजिस्ट्रेट, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट और केंद्र व्यवस्थापक की मौजूदगी में सिर्फ पेपर रखे और निकाले जाएंगे।

प्रश्न : जिले में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्र कितने हैं, इनके लिए क्या अतिरिक्त इंतजाम किए जा रहे हैं?

उत्तर : इस बार 33 संवेदनशील और एक अति संवेदनशील केंद्र चिह्नित किया गया है। इन केंद्रों पर पहले कोई गड़बड़ी नहीं हुई है, लेकिन भौगोलिक स्थिति को देखते हुए इन्हें संवेदनशील चिह्नित किया गया है, यहां सुरक्षा व्यवस्था अतिरिक्त रहेगी।

प्रश्न : कुछ परीक्षा केंद्रों पर फर्नीचर की कमी की शिकायत आ रही है, वहां क्या व्यवस्था कराई जा रही है?

उत्तर: हां, कुछ प्रधानाचार्यों ने अपने विद्यालय में फर्नीचर की कमी बताई थी, वहां नजदीक के राजकीय विद्यालय से फर्नीचर भिजवाया जाएगा, समय से पहले व्यवस्था करा दी जाएगी।

फैक्ट फाइल

कंट्रोल रूम: इस्लामियां इंटर कालेज में बनाया गया कंट्रोल रूम

परीक्षा केंद्र: जिले में इस बार बनाए गए हैं 104 परीक्षा केंद्र

संकलन केंद्र: राजकीय इंटर कालेज को बनाया गया संकलन केंद्र

परीक्षार्थी: कुल परीक्षार्थी - 67,318

हाईस्कूल के परीक्षार्थी - 37,978

इंटरमीडिएट के परीक्षार्थी - 29,340

संवेदनशील परीक्षा केंद्र - 33

अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्र - 01।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट