जेएनएन, बदायूं : प्रतिबंध के अंतर्गत मान्यता प्राप्त करने वाले जिले के 27 कालेजों पर मान्यता प्रत्याहरण की तलवार लटक रही है। एक वर्ष का समय देने के बाद भी लगभग 14 वर्ष बीतने के बाद भी मानकों को पूरा नहीं किया जा रहा है। माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से नोटिस जारी करने के बाद भी मात्र एक कालेज ने ही जवाब दिया है। विभागीय अधिकारी कालेज में जाकर मानकों का निरीक्षण करेंगे। शेष कालेजों को एक और नोटिस दिया जाएगा। वर्ष 2007 में माध्यमिक शिक्षा अधिनियम की धारा 9(4) में जिले के बहुत से कालेजों को मान्यता दी गई। मान्यता प्राप्त होने के छह महीने या एक वर्ष मे सभी मानकों को पूरा करना था। इसके बाद भी न तो किसी अधिकारी ने इस तरफ ध्यान दिया और न ही कालेजों ने मानक पूरे किए। लगातार कालेजों का संचालन हो रहा है। शासन से निर्देश मिलने पर जिला विद्यालय निरीक्षक ने इन कालेजों को 29 जनवरी को नोटिस जारी किया। सात दिनों में स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया। अन्यथा की स्थिति में मान्यता प्रत्याहरण की कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई थी। इनसेट

अनदेखा करता रहा है विभाग

वर्षाें पहले मान्यता की शर्त थी कि समय रहते मानकों को पूरा किया जाएगा। कहने को मान्यता को समाप्त कर दिया है। इसके बाद भी विभागीय जिम्मेदारों की अनदेखी जारी रही। न तो किसी पर कार्रवाई की गई और न ही मान्यता छीनी गई। शिक्षा सचिव का निर्देश मिलने पर विभाग ने नोटिस जारी किया है। वर्जन..

अधिनियम की धारा 9(4) में 2007 में प्रतिबंध के अंतर्गत मान्यता प्रदान की गई थी। जिसका नोटिस देकर जवाब मांगा है। एक कालेज ने ही जवाब दिया है। शेष के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- राममूरत, जिला विद्यालय निरीक्षक।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप