जासं, बदायूं : बरेली टू कासगंज तक चल रहा ब्रॉडगेज कार्य अंतिम चरण में पहुंच गया है। ऐसे में बदायूं से बरेली के बीच बड़ी लाइन की ट्रेनें मई के पहले सप्ताह में ही शुरू होने की संभावनाएं बढ़ गई हैं। आमान परिवर्तन के लिए रामगंगा पर कनेक्टिविटी को लेकर उत्तर रेलवे और पूर्वोत्तर रेलवे के मध्य चल रहा विवाद भी थम गया है। दोनों महकमों में समझौता होने के बाद कुछ तकनीकी कमी की वजह से सिग्नल नहीं मिल पा रहा था, अब इस दिशा में भी कार्य तेजी से शुरू हो गया है। कनेक्टिविटी मिलते ही इंजन ट्रायल कराया जाएगा।

बरेली से कासगंज तक ब्राडगेज का कार्य चलने की वह से पूरे रूट की ट्रेनें लंबे समय से बंद हैं। ट्रेन बंद होने से हजारों यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस रूट पर खासकर दैनिक यात्रियों के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है। वह अन्य संसाधनों से यात्रा करते हैं तो समय और पैसा दोनों ही ज्यादा खर्च करने पड़ते हैं। ऐसे में यात्रियों की निगाहें बड़ी रेल लाइन की ट्रेन पर टिकी हुई हैं।

जरूरत को समझते हुए पूर्वोत्तर रेलवे ने युद्ध स्तर पर काम चलाकर बरेली से कछला तक मेन ट्रैक का काम पूरा करा दिया। इसके अलावा ब्रौडगेज की मेन लाइन भी लिंक हो चुकी है। स्टेशन रूट लाइन का कार्य भी तेजी पर है, जो जल्द ही पूरा हो जाएगा। ब्राडगेज कार्य में कोई रुकावट न आए इसके लिए विभाग को करीब 20 करोड़ रुपये का बजट और दे दिया गया है। कछला तक सभी काम पूरे हो चुके हैं। कछला से उस पार कासगंज तक भी टै्रक और मेन लाइन लिंक का कार्य हो चुका है। अड़ंगा केवल कछला पुल पर है। हालांकि पुल का काम भी चल रहा है, लेकिन अभी पांच महीने का समय पुल में लगेगा। इस बीच बदायूं टू बरेली तक मई में ही रेल सेवा शुरू हो जाएगी। इसके बाद कछला पुल बनते ही यह सफर कई जिलों तक आसान हो जाएगा।