-महज चार हजार का रखा गया था लक्ष्य, 3580 ने लगवाया

- उत्सव के तीसरे दिन वैक्सीन की कमी खली, लोग परेशान

जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : वैक्सीन की कमी के कारण टीका उत्सव तीसरे दिन फीका रहा। 112 के जगह महज 40 स्थानों पर टीके लगाए जा सके। स्वास्थ्य विभाग ने दूसरे दिन के लिए टीकाकरण का निर्धारित लक्ष्य चार हजार के सापेक्ष महज 3580 लोगों ने टीका लगवाया। हालांकि, ग्रामीण इलाकों में लोग उत्साहित होकर निकले थे, लेकिन वैक्सीन की कमी के कारण निराश होकर लौटे। बुधवार को टीकाकरण चले, इसके लिए पांच हजार वायल वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है।

सरकार ने कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए टीका उत्सव मना रही है। पहले दिन छह हजार का लक्ष्य रखा गया तो साढ़े पांच हजार लोगों तक पहुंच बन पाई। दूसरे दिन नौ हजार के सापेक्ष 9107 लोगों को ने वैक्सीन लगवाए। तीसरे दिन वैक्सीन की कमी के कारण टीका उत्सव फीका पड़ गया। स्वास्थ्य विभाग ने भी महज चार हजार का ही लक्ष्य निर्धारित किया था। चूंकि सिर्फ 40 सेंटरों पर ही टीकाकारण का कार्य किया जा रहा था, इसलिए लक्ष्य करीब 11 फीसद पीछे छूट गया। सीएमओ डॉ. एके मिश्रा ने बताया कि पांच हजार वायल जिले को उपलब्ध कराया गया है। उसी से बुधवार को जिले में टीकाकरण कराया जाएगा।

----------------------

'टीका वैज्ञानिकों का कोरोनो से जंग लड़ने का उपहार है। मैं टीका लगवा चुकी हूं, आप सभी को सलाह देती हूं कि लगवाएं। वैक्सीन लगवाने के साथ कोरोना गाइड लाइन का पालन करिए। ऐसा करने से ही संक्रमण का चेन टूटेगा और कोरोना देश में एक बार फिर से हार का मुंह देख विदा लेगा।'

डॉ. दिप्ती सिंह, वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप