-आनरकिलिग ::::

-मोबाइल पर बात करने के शक में गला दबाकर की थी हत्या

-शव को पोखरे में फेंकने के बाद खुद कर रहे थे खोजबीन

-दूसरों के खिलाफ दर्ज था मुकदमा, तफ्तीश में सामने आई हकीकत जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : बरदह थाना क्षेत्र के असवनिया गांव की पूजा हत्याकांड का राजफाश करते हुए पुलिस ने उसके दोनों चाचा को गिरफ्तार कर लिया। पिता ने इस मामले में तीन अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था, लेकिन तफ्तीश में चौंकाने वाली सच्चाई सामने आई। पूछताछ में दोनों ने अपना गुनाह कुबूल भी कर लिया।

पकड़े गए चन्द्रभान उर्फ चंदू व सूरजभान ने पूछताछ में बताया कि 13 जुलाई की रात पूजा के मोबाइल पर छह मिस्ड काल आया था। उसे गलत संबंध का शक हुआ, तो दोनों भाई पूजा के कमरे में जाकर पूछताछ करने लगे। इससे नाराज पूजा अनाप-शनाप बोलने लगी तो उसके सिर के पिछले भाग को पकड़कर दीवार में दबा दिए। कुछ देर बाद पूजा की मौत हो गई तो घबराट में उसे गांव के तालाब में फेंक दिए। खुद को बचाने के लिए घर तथा कुछ लोगों को फोन कर उसके गायब होने की जानकारी दे दी। खुद के साथ खोजबीन में एक और युवक को साथ लिया।

प्रभारी निरीक्षक विनय मिश्र ने बताया कि प्रधान व अन्य लोगों की सूचना पर शव का पोस्टमार्टम कराया गया तो पता चला कि उसकी हत्या की गई है। पिता उदयभान ने गांव के ही तीन लोगों के खिलाफ घर से बुलाकर पूजा की हत्या करने का केस दर्ज कराया। तफ्तीश में पता चला कि मृतका के सगे दो चाचा ने ही हत्या की है। इसके बाद पुलिस ने सुबह 10.55 बजे असवनिया गांव के भक्तान टोला मोड़ पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

Edited By: Jagran