जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : देवगांव कोतवाली पुलिस ने रणमों गांव स्थित नहर पटरी के समीप से शुक्रवार की सुबह चेन स्नेचिग गिरोह की दो महिला समेत तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उनके पास से चोरी के तीन सोने की सिकड़ी, एक बोलेरो व 150 रुपये बरामद कर उक्त आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि चेन स्नेचिग गिरोह की दो महिलाएं व एक पुरुष बोलेरो गाड़ी पर सवार होकर नरसिंहपुर से रणमों नहर पटरी होकर लालगंज की ओर आ रहे हैं। उक्त सूचना पर देवगांव प्रभारी निरीक्षक सुनीलचंद तिवारी, लालगंज चौकी प्रभारी सुनील यादव अपने सहयोगी पुलिसकर्मियों के साथ रणमो गांव स्थित नहर पटरी के पास शुक्रवार को दिन में घेराबंदी कर खड़े थे। कुछ देर बाद बोलेरो को आते देख पुलिस ने रोककर उस पर सवार दो महिला व एक पुरुष को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर पुलिस ने उनके पास से चोरी की तीन सोने की सिकड़ी बरामद कर बोलेरो को भी अपने कब्जे में ले लिया। पकड़े गए लोगों में रीना उर्फ मीरा पत्नी संतोष लोना, संगीता पत्नी राजेश लोना ग्राम नरसिंहपुर थाना देवगांव व जितेंद्र यादव पुत्र लक्ष्मी नरायन ग्राम नीबू दूबे थाना बड़हलगंज जिला गोरखपुर के निवासी हैं। टेंपो व जीप में सवार महिलाओं का उड़ा लेती हैं जेवर

एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार की गई महिलाओं का चेन स्नेचिग का गिरोह है। यह गिरोह कई भागों में बंटा हुआ है। प्रत्येक गिरोह में दो से लेकर चार-पांच महिलाएं शामिल रहती हैं। बोलेरो से सवार होकर आती हैं और बाजार के बाहर ही अपनी गाड़ी छोड़ देती हैं। उसके बाद टेंपो व जीप में सवार हो जाती हैं। कुछ दूर जाने के बाद एक और महिला बच्ची लेकर उसी टेंपो व जीप में सवार होती हैं। इसके बाद अगल-बगल बैठी महिलाओं से बातचीत के दौरान उनके गले से सोने की सिकड़ी व अन्य आभूषण चालाकी के साथ चुरा लेती हैं। घटना को अंजाम देने के बाद वे सवारी वाहन से उतर जाती हैं और पीछे से आ रही अपनी बोलेरो में सवार होकर भाग जाती हैं। चेन स्नेचिग गिरोह की कई घटनाओं का हुआ खुलासा

एसपी के मुताबिक पकड़ी गई महिलाओं ने चेन स्नेचिग की कई घटनाओं को अंजाम दिया है। 13 सितंबर को देवगांव क्षेत्र के मथुरापुर नंदापुर गांव निवासी मंजू चौरसिया पत्नी गोपाल चौरसिया लालगंज बाजार के फल मंडी से टेंपो पर सवार होकर जा रही थी तो उक्त दोनों महिलाओं ने उसके गले से सोने की सिकड़ी उड़ा दी। इसके अलावा उन्होंने लालगंज कस्बा के ही निवासी सरिता गुप्ता व नूरजहां की भी सिकड़ी काट लिया था। बीते मई माह में गंभीरपुर क्षेत्र में एक महिला का चेन काटकर भाग रही उक्त दोनों महिलाओं को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया था। दोनों ने अपना नाम पता गलत बताया था। पुलिस ने उसी गलत नाम पता पर ही उन्हें जेल भेज दिया था। जेल से छूटने के बाद वह फिर से इस धंधे में लग गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस