::: अजीत हत्याकांड :

- एसपी की सख्ती काम आई, ढहवा दिए थे आरोपित पक्ष का भवन

- वोट न देने की रंजिश में चार लोगों ने चाकुओं से गोद मार डाला था जागरण संवाददाता, मेंहनगर (आजमगढ़) : अजीत हत्याकांड में पुलिस को सोमवार की सुबह सफलता मिल गई। तीन आरोपित हत्थे चढ़ गए। उनके पास से हत्या में प्रयुक्त चाकू भी बरामद हो गया है। एसपी के वारदात के बाद अतिक्रमण पर बुलडोजर चलवा देने से भी आरोपित पक्ष सहम गया था। पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ के बाद मेंहनगर पुलिस ने तीनों का चालान कर दिया।

मेंहनगर क्षेत्र के रामपुर गांव निवासी अजीत सिंह पुत्र रामचेत सिंह की 11 जून को को चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी। हमलावरों ने वोट न देने की रंजिश में खूनी खेला था। हमले में एक युवक भी घायल हुआ था, लेकिन उसकी जान संयोगवश बच गई थी। अजीत सिंह गांव के ही अमर प्रताप के साथ ब्रह्मभोज कार्यक्रम से लौट रहे थे कि हमलावरों ने निशाना बना लिया था। पीड़ित भाई राजेश सिंह ने गांव के ही अजीत सिंह पुत्र यदुनाथ सिंह समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। सोमवार को अपराध इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिंह ने मुखबिर की सूचना पर देवईत बाजार के समीप से फरार चल रहे अजीत सिंह हत्याकांड के तीन हत्यारोपितों अजीत सिंह, राहुल सिंह, अंकित सिंह को अजीत सिंह को सोमवार की सुबह थाना क्षेत्र के ही कटहा मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया। एक दिन पूर्व ही पुलिस हत्यारोपित अजीत सिंह पक्ष का एक भवन व पोल्टी फार्म को जेसीबी लगाकर रविवार को ध्वस्त करा दिया था। एसपी सुधीर कुमार सिंह ने कहाकि पुलिस पहले दिन से ही हमलावरों के पीछे पड़ी थी। कहाकि फरार एक अन्य आरोपित को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran