जासं, निजामाबाद (आजमगढ़) : नगर की विद्युत व्यवस्था निर्बाध गति से चलाने के लिए नगर के चारों तरफ कई खंडों में अलग-अलग जगह ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है। ताकि बिजली सप्लाई में कोई परेशानी न हो। विद्युत व्यवस्था कई खंडों में बंटी हुई है। इतनी सारी व्यवस्थाओं के बाद भी आए दिन फाल्ट की स्थिति बनी रहती है लेकिन फाल्ट को बनाने वाला कोई नहीं है। कहने को तो नगर में विद्युत विभाग के एसडीओ स्तर का कार्यालय है। इसी से पूरे तहसील क्षेत्र की बिजली बिल जमा होती है, लेकिन यहां कोई अधिकारी या कर्मचारी रात्रि प्रवास नहीं करता है। स्थिति यह है कि अगर रात में किसी वजह से लोकल फाल्ट हो जाए तो पूरे नगर को अंधेरे में गुजारना पड़ता है। कभी-कभी स्थिति इतनी बुरी हो जाती है कि आधे क्षेत्र में बिजली रहती है और आधे क्षेत्र में नहीं रहती है। इस भीषण गर्मी में बिजली न होने से पानी की समस्या उत्पन्न हो जाती है। रमजान का पवित्र महीना चल रहा है। बिजली न होने से सबसे बड़ी समस्या रोजेदारों को होती है। इसी बिजली के भरोसे पूरा कस्बा आश्रित है। नगर में पक्के घरों में रहने की व्यवस्था विद्युत पर ही आधारित है। स्थिति यह है कि पूरी रात बिजली गायब रहती है लेकिन कोई फाल्ट जोड़ने वाला नहीं है। रोजेदारों को एक-एक बूंद पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran