-हुए एकजुट :::

-कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी व पेंशनर्स अधिकार मंच के आह्वान पर दिया धरना

-कहा, शिक्षकों व कर्मचारियों के साथ अन्याय कर रही सरकार

-लक्ष्य प्राप्ति तक अनवरत सड़क से सदन तक संघर्ष का एलान

जागरण संवाददाता, आजमगढ़: कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच के प्रांतीय अध्यक्ष डा. दिनेश चंद्र शर्मा के आह्वान पर पुरानी पेंशन बहाली सहित विभिन्न मांगों को लेकर कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना देकर आवाज बुलंद की। कहाकि पुरानी पेंशन को खत्म कर सरकार ने शिक्षकों एवं कर्मचारियों के साथ अन्याय किया है। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।उधर, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रवीण सिंह ने धरना स्थल पर पहुंचकर मांगों का समर्थन किया।

मंच के जिलाध्यक्ष अभिमन्यु यादव ने कहाकि सरकार जब तक पुरानी पेंशन को बहाल नहीं करती है तब आंदोलन चलता रहेगा। महासचिव अरविद यादव ने कहाकि शिक्षक-कर्मचारियों को प्रदत्त सुविधाओं में सरकार एक-एक कर कटौती करती जा रही है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। संयोजक रविद्र प्रताप श्रीवास्वत ने कहाकि सरकार ने कर्मचारियों के नगर प्रतिकर, परिवार नियोजन जैसे प्रोत्साहन भत्ते का खत्म कर निराश किया है। माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार राय ने कहाकि सांसद व विधायक शपथ ग्रहण करते ही पुरानी पेंशन ले लेते हैं लेकिन शिक्षक और कर्मचारी 60 से 62 वर्ष तक अनवरत सेवा करने के बाद भी पुरानी पेंशन नहीं पा रहे हैं। यह सरकार की हठधर्मिता है। प्राथमिक शिक्षक संघ के मांडलिक महामंत्री अतुल कुमार सिंह ने कहाकि सरकार लगातार शिक्षक और कर्मचारियों के अधिकारों का हनन कर अपमान कर रही है। हम लक्ष्य की प्राप्ति तक अनवरत सड़क से सदन तक संघर्ष करेंगे। अवधेश त्रिपाठी, मुन्नू यादव, इफ्तेखार काशीपुरी, विजय कुमार सिंह, हरिहर सिंह, अनिल तिवारी, हरिहर सिंह, देवसी यादव आदि ने भी संबोधित किया। कुशहर यादव, दुर्गा प्रसाद राय, अंबिका यादव, रमाकांत यादव, आलोक राय, सुरेंद्र यादव, अनिल, नवीन पांडेय, योगेंद्र यादव, नीरज सिंह आदि थे।

Edited By: Jagran