--प्रशासन सख्त :::

-नोटिस के बाद भी रायल्टी जमा करने पर कार्रवाई के निर्देश

-सभी एसडीएम व खनन निरीक्षक को सौंपी गई जिम्मेदारी

जागरण संवाददाता, आजमगढ़: बकाया राजस्व वसूली को लेकर जिलाधिकारी राजेश कुमार सख्त हो गए हैं। जिले के 193 ईंट-भट्ठा संचालकों पर एक करोड़, पांच लाख, 23 हजार रुपये विनियमन शुल्क (रायल्टी) बकाया है। आदेश के अनुपालन में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गुरु प्रसाद गुप्ता ने सभी संबंधित एसडीएम और खनन निरीक्षक को निर्देशित किया है कि ज्वाइंट मजिस्ट्रेट आइएएस(एसडीएम सदर) की तरफ अपने-अपने क्षेत्र में कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए बकाया राजस्व की वसूली मार्च में कराना सुनिश्चित करें।

जिले में कुल 501 ईंट भट्ठा संचालित हैं, जिनके पर संचालन सत्र 2020-21 का कुल चार करोड़, 30 लाख, 50 हजार रुपये रायल्टी बकाया थी। नोटिस और कार्रवाई के बाद अब तक 308 संचालकों ने तीन करोड़, 25 लाख, 27 हजार रुपये बकाया राजस्व जमा कर दिया, लेकिन शेष भट्ठा संचालक बकाया राजस्व नहीं जमा कर रहे हैं। एडीएम एफआर ने एसडीएम को निर्देशित किया है कि यदि बकाया रायल्टी जमा नहीं की जाती है तो संबंधित के कच्चे ईंट को नष्ट कराने के साथ अन्य आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021