जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : खरीफ क्रय वर्ष 2019-20 के अंतर्गत जिले में एक नवंबर से 29 फरवरी तक धान खरीद सुनिश्चित की जानी है। शासन-प्रशासन की तमाम कवायद के बाद भी मौसम की मार और मार्केटिग के इंस्पेक्टरों की हड़ताल के चलते लक्ष्य के सापेक्ष 54 दिन बाद भी खरीद नहीं हो सकी है। 62,300 एमटी के सापेक्ष अभी तक 17,995 एमटी यानी 28.89 फीसद ही खरीद हो सकी है।

जिले में खाद्य विभाग के 20, पीसीएफ के 36, यूपी एग्रो व कर्मचारी कल्याण निगम के तीन-तीन और भारतीय खाद्य निगम के दो सहित कुल 64 क्रय केंद्रों की स्थापना की गई है। इनमें केवल 61 क्रय केंद्र सक्रिय हैं। समर्थन मूल्य 1815 रुपये प्रति क्विंटल और 20 रुपये उतराई, छनाई व्यय सहित कुल 1835 रुपये प्रति क्विंटल ऑनलाइन किसानों के खाते में भुगतान किया जाना है। 3533 किसानों से खरीदे गए धान में अब तक 6305.96 एमटी धान मिलर्स को कुटाई के लिए भेजा गया है। जबकि अभी 12,112 एमटी धान क्रय केंद्रों पर पड़ा है। भुगतान की स्थिति यह है कि 2505.952 लाख रुपये का हुआ है और अभी 796.23 लाख रुपये का भुगतान अवशेष है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस