जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : मुख्य विकास अधिकारी डीएस उपाध्याय ने 13 जनवरी को विकास खंड महराजगंज की ग्राम पंचायत आराजी देवारा नैनीजोर का आकस्मिक निरीक्षण किया था। उन्होंने पाया कि प्राथमिक विद्यालय में घास-फूस उग आए हैं और शौचालय में बहुत गंदगी थी। इस प्रकार सफाईकर्मी पूनम द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया जा रहा है, जो कर्मचारी आचरण नियमावली के खिलाफ है। प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी आनंद प्रकाश श्रीवास्तव ने तत्काल प्रभाव से सफाईकर्मी को निलंबित कर ब्लाक मुख्यालय से संबद्ध कर दिया।

जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया कि इस मामले में सहायक विकास अधिकारी पंचायत बिलरियागंज को जांच अधिकारी नामित किया गया है। निर्देशित किया गया है कि पूरे प्रकरण की छानबीन करके अधिकतम तीन सप्ताह के अंदर आरोप पत्र गठित कर अनुमोदन के लिए प्रस्तुत करें। उसके बाद संबंधित सफाईकर्मी द्वारा प्रस्तुत स्पष्टीकरण एवं बचाव पक्ष पर नियमानुसार जांच कार्रवाई संपन्न करते हुए अपनी स्पष्ट जांच आख्या अंतिम निर्णय के लिए उपलब्ध कराएंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप