जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : महिलाओं एवं बच्चियों की समस्याओं को देखते हुए इस रविवार को दैनिक जागरण के प्रश्न पहर कार्यक्रम में स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. पूनम बरनवाल को आमंत्रित किया गया था। उन्होंने लोगों की समस्याओं को सुना और उचित सलाह दीं। इस दौरान डा. पूनम बरनवाल ने बताया कि महिलाएं व किशोरियों में मासिक धर्म को लेकर कई प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है। अक्सर उन बच्चियों को परेशानी होती है जिनको पहली बार मासिक धर्म आता है। ऐसे में उनकी मां को चाहिए कि बच्चियों को मासिक धर्म के बारे में जागरूक करें जिससे बच्चियों को परेशानी न हो और साफ-सफाई के बारे में भी बताएं। ऐसे समय में मां को काउंसलर की तरह बच्चियों को गाइड करने की जरूरत होती है। मासिक धर्म के समय खून व कैल्शियम की कमी हो जाती है। इस समय प्रोटीन युक्त भोजन, अच्छी डाइट, दूध से बनी वस्तुओं का सेवन, हरी पत्तीदार सब्जी, गुड़, खजूर व किसमिस का सेवन कराएं।

.....

गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

आजमगढ़ : गर्भावस्था में विशेष सावधानियां बरतनी होती है। अच्छी डाइट, पौष्टिक आहार आदि पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। गर्भावस्था के पहले तिमाही में पौष्टिक भोजन लें। किसी अच्छे महिला रोग विशेषज्ञ के संपर्क में रहें, जिससे आवश्यकता पड़ने पर शुरुआती दिक्कत या सुझाव लिया जा सके। तीसरे माह में सोनोग्राफी कराना अनिवार्य होता है। दूसरी तिमाही में पौष्टिक आहार के साथ-साथ एक माह के अंतराल पर दो टीटी का इंजेक्शन लगवाना जरूरी है। खून की पूरी जांच करा लें और कैल्शियम की दवा शुरू कर दें। तीसरी तिमाही में पौष्टिक आहार की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। आठवें माह में सोनोग्राफी कराएं। स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें ताकि जटिलताओं से बचा जा सके। नौवें माह में खून की जांच आवश्यक होती है।

......

यदि किसी दंपती को बच्चा पैदा नहीं हो रहा है तो महिलाओं के साथ ही पुरुष की भी जांच होनी चाहिए। पति-पत्नी को चिकित्सक की सलाह पर जांच कराकर इलाज कराना चाहिए।

-----------------

सवाल एवं जवाब :::::

सवाल : प्राइवेट पार्ट में खुजली हो रही है, फंगल हो गए हैं।

जवाब : शुगर की जांच करा लें। वी-वॉश का उपयोग करें। साफ-सफाई रखें और एंटी फंगल क्रीम लगाएं। यदि उसके बाद भी ठीक नहीं हो रहा है तो महिला रोग विशेषज्ञ से मिलकर सलाह लें।

सवाल : दो वर्ष की बच्ची है दूध पीती है, शरीर में दर्द होता है।

जवाब : खून व कैल्शियम की जांच करा लें। यदि बच्ची दूध पीती है तो डाइट अच्छी होनी चाहिए। खान-पान पर विशेष ध्यान दें और चिकित्सक को दिखा लें।

सवाल : डिलेवरी के डेढ़ माह बाद भी ब्लड जा रहा है।

जवाब : आपरेशन या नार्मल डिलेवरी के बाद डेढ़ माह तक ब्लीडिग होती है। यदि डेढ़ से अधिक होता है तो चिकित्सक से सलाह ले लें। खानपान पर ध्यान दें और आयरन की गोलियां बराबर लें।

सवाल : पत्नी के सिर में दर्द और चिड़चिड़ापन रहता है।

जवाब : आंख का टेस्ट कराएं, ब्लड की जांच कराकर दवा लें, आराम न मिले तो किसी फिजीशियन से परामर्श लें।

सवाल : मासिक धर्म के दौरान पेट में दर्द होता है।

जवाब : मासिक धर्म के दौरान दर्द होना स्वभाविक बात है। यदि ब्लीडिग ज्यादा हो रही है और बराबर दर्द की दवा खानी पड़ती है तो चिकित्सक से मिलकर कुछ जांच कराकर इलाज करा लें।

सवाल : दो बच्चियां हैं 12-13 वर्ष की मासिक धर्म को लेकर डर लगता है।

जवाब : मासिक धर्म को लेकर डरने की बात नहीं है। बच्चियों को मासिक धर्म के बारे में बताएं। उनको बताएं कि यह सभी लोगों में होता है। मासिक धर्म के दौरान खानपान की अवश्य ध्यान दें।

---------------

इन्होंने पूछे सवाल :::

साक्षी फूलपुर, पूजा सिविल लाइन आजमगढ़, हर्षिता अग्रवाल रैदोपुर, रूही बेइलसा, नम्रता पांडेय बेलइसा, सोनी कुमारी अतरौलिया, ममता पांडेय बेलइसा, सीमा, लालगंज, सुरेंद्र जहानागंज आजमगढ़।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस