जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : जहानागंज थाना क्षेत्र के कोल्हूखोर गांव के मुजफ्फरपुर मौजा में विवाहिता की मंगलवार की सुबह संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृत विवाहिता के चाचा की तहरीर पर पुलिस ने पति समेत पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने विवाहिता की सास व ससुर को हिरासत में ले लिया है, जबकि अन्य लोग घर छोड़कर फरार हैं।

मऊ जिले के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र के सेचुई गांव निवासी प्रदीप की बहन 22 वर्षीय प्रियंका यादव की शादी तीन वर्ष पूर्व कोल्हूखोर गांव के मुजफ्फरपुर पुरवा निवासी मोहन यादव के साथ हुई थी। स्वजनों का कहना है कि मंगलवार की सुबह लगभग सात बजे प्रियंका ने किसी बात से नाराज होकर घर में ही अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। आग से झुलसने से उसकी मौत हो गई। वहीं विवाहिता के भाई का आरोप है कि ससुराल के लोग दहेज में एक लाख रुपये व बाइक की मांग को लेकर प्रताड़ित करते थे। दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल के लोगों ने बहन को जलाकर मार डाला। मृत विवाहिता के चाचा दुर्ग विजय यादव ने पति समेत ससुराल पक्ष के पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। जहानागंज थाना के प्रभारी इंस्पेक्टर राकेश सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप