सपा के ‘गढ़’ में खिला कमल, निरहुआ जीते

जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : सपा के गढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का जादू काम कर गया। भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव कांटे की संघर्ष में सपा को दूसरे और बसपा को तीसरे स्थान धकेलते हुए सांसद बन गए। सदर संसदीय क्षेत्र (आजमगढ़) के इतिहास में रमाकांत यादव के बाद दूसरी बार कमल खिला है। इसे सीएम योगी का जादू इसलिए कह रहे हैं क्योंकि योगी ने सभा में कहा था कि निरहुआ को आप जिताइए, विकास और सुरक्षा का जिम्मा मुझ पर छोड़ दीजिए। इससे स्पष्ट है कि आजमगढ़ की पहली पसंद विकास और सुरक्षा है। निर्वाचन विभाग की ओर से जारी अनंतिम सूचना में दिनेश लाल यादव 312768 वोट पाकर सपा के धर्मेंद्र (304089) से 8595 वोटों से आगे थे।

सुबह आठ बजे मतगणना की शुरूआत हुई तो कांटे की टक्कर थी। शुरुआती रुझान में सपा बढ़त बनाए हुई थी, जिससे धर्मेंद्र यादव की उम्मीदें बंधी थी। 13 वें राउंड में भाजपा छह हजार वोटों से आगे हुई तो वोटों का अंतर कम-ज्यादा जरूर होता रहा लेकिन सपा की बढ़त बन नहीं पाई। बसपा मामूली अंतर के साथ अनवरत पीछे रही तो उसके प्रत्याशी शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली दिन में 2.20 बजे लौट गए।

इस तरह 2009 के बाद यहां दूसरी बार भगवा लहराया है। भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ दूसरी बार सपा से मुकाबिल थे। उपचुनाव में 909903 मतदाताओं ने वोट किए थे, जिसमें 24 राउंड तक के परिणाम में निरहुआ को 242770 वोट, सपा के धर्मेंद्र को 233920 और बसपा के शाह आलम को 208544 वोट मिले हैं जबकि 4056 लोगों ने नोटा दबाया है। कमल खिलने के पीछे बसपा के मजबूत संघर्ष और मुस्लिम मतदाताओं का बंटना अहम समझा जा रहा है। भाजपा प्रत्याशी निरहुआ ने अपने आधिकारिक एकांउट से जीत का संदेश दिया तो कार्यकर्ता उत्साह से झूम उठे।

Edited By: Jagran