जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : कोरोना वायरस के संक्रमण से फैल रही कोरोना महामारी को आपदा घोषित किए जाने के लिए समस्त गतिविधियां तीन मई तक लॉकडाउन की गई हैं। शासन द्वारा गरीब व्यक्तियों के खाते में विभिन्न प्रकार के पेंशन, जन-धन खाते, किसान सम्मान निधि, श्रम विभाग मे पंजीकृत श्रमिकों में धनराशि प्रेषित की जा चुकी है। इससे बैंकों में अत्यधिक भीड़ आ रही है। इसके लिए ब्लाकवार प्रभारी अधिकारियों की तैनाती की गई है।

डीएम नागेंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। उन्होंने बताया कि भीड़ को देखते हुए बैंक, दवा की दुकान, किराना की दुकानो और सब्जी की दुकानों पर शारीरिक दूरी का प्रभावी अनुपालन कराने के लिए सभी 22 ब्लाकों में एक-एक अधिकारियों की ड्यूटी प्रभारी अधिकारी के रूप में लगाई गई है। निर्देश दिए कि अपने आवंटित क्षेत्र में नियमित रूप से बैंक शाखाओं, दवा की दुकानों, किराना स्टोर, सब्जी की दुकानों और माइक्रो एटीएम के स्थलों पर टोकन सिस्टम लागू करवाएंगे, शारीरिक दूरी का पालन करवाएंगे एवं आम जनमानस को मास्क लगाने एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे। समस्त संबंधित अधिकारी निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे। किसी भी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नहीं होगी एवं इसकी रिपोर्ट प्रतिदिन उपलब्ध कराएंगे। सीडीओ आनंद कुमार शुक्ला सहित समस्त खंड प्रभारी अधिकारी थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस