जागरण संवाददाता, अमिलो (आजमगढ़) : गांव से लेकर शहर तक अधिक दाम पर सामान बेचने की शिकायत को कमिश्नर कनक त्रिपाठी और डीआइजी सुभाष चंद्र दुबे ने गंभीरता से लेते हुए शनिवार को मातहतों को निर्देश दिया कि ऐसे लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर जेल भेजा जाए।

मुबारकपुर थाना परिसर में कमिश्नर व डीआइजी ने बैठक कर मातहत अधिकारियों से कहा कि लॉक डाउन का पालन करने के साथ सभी वार्डों में राशन, सब्जी व फल की होम डिलेवरी की व्यवस्था दें, ताकि लोग असुविधा से बचें। अगर कोई जमाखोरी कर अधिक रेट पर सामान बेचता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई कर जेल भेज दिया जाए।

अधिशासी अधिकारी राजपति वैश्य से पूछा कि नगर में कुल ठेले की संख्या कितनी है तो ईओ ने बताया कि 211 ठेले हैं। कमिश्नर ने कहा कि सभी पचीस वार्डों के लिए 64 ठेले का पास जारी कर उनका नाम-पता व मोबाइल नंबर नोट कर लें और ठेले के माध्यम से दस से शाम चार बजे तक सब्जी व फल घर-घर पहुंचाएं।

उन्होंने निर्देश दिया कि मेन बाजार में सब्जीमंडी न लगाकर रविवार से रामलीला मैदान में सुबह 7.30 से दोपहर 12.30 बजे तक लगाई जाए। डीआइजी सुभाष चंद्र दुबे ने कहा कि भीड़ व जमाखोरी न होने पाए। यदि इस तरह की शिकायत हो तो नियंत्रण कक्ष अथवा 112 नंबर पर डायल करें। उन्होंने थाना प्रभारी निरीक्षक अखिलेश कुमार मिश्र को निर्देश दिया कि रामलीला मैदान में सुबह खुद पहुंचें और लॉक डाउन का पालन कराएं।

कहा कि अब माह की पहली तारीख को राशन वितरण कराएं। अप्रैल माह का राशन वितरण ग्राहकों से उचित मूल्य लेकर किया जाएगा और उसके बाद जो कोई मूल्य नहीं लिया जाएगा। बैठक के बाद दोनों अधिकारियों ने मोहल्ला कटरा स्थित बांसफोर बिरादरी की बस्ती में पहुंचकर लगभग 50 लोगों को लंच पैकट दिया।

इस दौरान उप जिलाधिकारी रावेंद्र सिंह, राजीव रतन, राजपति वैश्य, क्षेत्राधिकारी अकमल खान, कानूनगो विनय कुमार सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस