जासं, सगड़ी (आजमगढ़) : मानसून शुरू होते ही नदियां संवेदनशील होने लगी हैं। इसी को देखते हुए नदियों के जलस्तर की निगरानी भी तेज कर दी गई है। रुक-रुक कर हो रही बारिश से घाघरा का जलस्तर 12 घंटे में 12 सेमी बढ़ गया है। हालांकि मुख्य मापक बदरहुंआ नाला गेज पर अभी मापक बिदु से 26 सेमी नीचे से बह रही है। घाघरा का यह जलस्तर देवारा वासियों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकता है।

सगड़ी तहसील के देवरांचल से होकर गुजरने वाली घाघरा नदी का जलस्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। इससे तटवर्ती गांवों में रहने वालों को कटान का भय सताने लगा है। डिघिया नाले पर घाघरा नदी का जलस्तर 12 घंटे में 12 सेमी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। डिघिया गेज पर सुबह आठ बजे 69.15 सेमी और शाम चार बजे 69.27 सेमी दर्ज किया गया। बदरहुंआ नाले पर न्यूनतम जलस्तर 70.25 मीटर व खतरा बिदु 71.68 मीटर है। वहीं डिघिया नाले पर न्यूनतम स्तर 68.90 मीटर व खतरा बिदु 70.40 मीटर पर है। जब घाघरा ने अंतिम बार तबाही मचाई थी तो बदरहुंआ नाले पर अधिकतम खतरा बिदु 72.98 मीटर व डिघिया नाला पर अधिकतम 72.10 मीटर दर्ज किया गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस