जागरण संवाददाता, आजमगढ़: मंडलायुक्त कनक त्रिपाठी ने बुधवार को अपने कैंप कार्यालय पर मंडलीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में समीक्षा की। बैठक से अनुपस्थित अधीक्षण अभियंता लोक निर्माण विभाग एवं परियोजना निदेशक, एनएचएआइ से स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

कहा कि सड़क सुरक्षा का मुख्य उद्देश्य मार्ग दुर्घटनाओं को रोकना है। कहा कि आजमगढ़ शहर के हर्रा की चुंगी एवं बिलरिया की चुंगी स्थित टैक्सी स्टैंड जिस पर अस्थाई अतिक्रमण है, को अतिक्रमणमुक्त कराते हुए तत्काल उसे स्टैंड के रूप में प्रयोग किया जाए। तीनों जिलों में जो भी ब्लैक स्पाट चिह्नित हैं, वहां पर स्पीड ब्रेकर, साईबोड, रैंबल स्ट्रिप लगवाना तत्काल सुनिश्चित किया जाए। समिति के सदस्यों ने आजमगढ़-वाराणसी मार्ग पर रानी की सराय में सड़क चौड़ी करने की धीमी प्रगति एवं सड़क खराब होने की शिकायत की। उन्होंने कहा कि इसके लिए पूर्व में ही लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया है। एनएचएआइ द्वारा आजमगढ़-अंबेडकरनगर के सीमा पर टोल टैक्स की वसूली का भी प्रकरण संज्ञान में लाया गया। जबकि वह सड़क अभी पूरी बन भी नहीं पाई है। इस पर भी स्थिति स्पष्ट कराने के लिए परियोजना निदेशक, एनएचएआइ उपस्थित नहीं थे। परियोजना निदेशक से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर संभागीय परिवहन अधिकारी रामवृक्ष सोनकर, एसपी यातायात तारिक मुहम्मद, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी डा. आरएन चौधरी, एडी बेसिक डा. राजेश कुमार आर्य, अभिषेक पंडित, खुर्रम आलम नोमानी, शिवबल यादव थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस