जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : फेफना-शाहगंज रेलवे लाइन पर अब शीघ्र ही इलेक्ट्रिक ट्रेनें दौड़ेंगी। वर्षाें से इलेक्ट्रिक ट्रेनों का इंतजार कर रहे जनपदवासियों की अब उम्मीदें पूरी होने वाली हैं। रेल प्रशासन जिले की जनता को छह माह में तोहफा देने जा रहा है। इसके लिए युद्धस्तर पर चल रहे विद्युतीकरण कार्य को मार्च 2021 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है।

रेल प्रशासन ने विद्युत परियोजना को मार्च 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया था, लेकिन लॉकडाउन के दौरान कार्य बाधित हो गया। जुलाई से कार्य फिर से शुरू कर दिया गया है। फेफना से शाहगंज तक विद्युतीकरण में लगभ 100 करोड़ रुपये लागत आएगी। हालांकि फेफना से इंदारा तक विद्युतीकरण का कार्य लगभग कार्य पूर्ण हो चुका है। मऊ से शाहगंज के बीच जगह-जगह विद्युत पोल के लिए गड्ढे तेजी से खोदे जा रहे हैं। इसके पूर्ण होते ही इलेक्ट्रिक के साथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। इससे यात्रियों को लेटलतीफी की समस्या से निजात मिलेगी और ट्रेनों की रफ्तार भी बढ़ेगी। जिन ट्रेनों की मांग की जा रही है, उनके मिलने की संभावनाएं प्रबल हो जाएंगी। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत मिलेगी। --------------

वर्जन .. विद्युतीकरण का कार्य मार्च 2021 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है। इसके पूरा होते ही इलेक्ट्रिक व लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत मिलेगी।

-अशोक कुमार, जनसंपर्क अधिकारी, पूर्वोत्तर रेलवे मंडल वाराणसी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस