जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : कलेक्ट्रेट सभागार में गुरुवार को जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में जिला पोषण समिति की बैठक आयोजित की गई। इसमें जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि सभी ब्लाकों 626 अतिकुपोषित बच्चों का चिह्नांकन किया गया था, जिसमें सभी के परिवार में राशनकार्ड बन गया है।

जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिया कि अभी भी जिन अतिकुपोषित बच्चों के परिवार में पोषण वाटिका नहीं बना है उसकी सूची उपलब्ध कराएं, जिन एएनएम सेंटरों पर वजन मशीन नहीं है, उसके लिए डिप्टी सीएमओ वाईके राय से समन्वय बनाकर सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिया कि अभी भी जिन-जिन ब्लाकों में अधिक संख्या में अतिकुपोषित बच्चे हैं उस जगह का चिह्नांकन कर सूची बनाएं और उस गांव में पांच मार्च को बचपन दिवस के अवसर पर आईसीडीएस विभाग की योजाओं का लाभ दिलाने के साथ बच्चों के परिवारों की काउंसिलिग करके सही दिशा-निर्देश दें। विभिन्न एएनएम केन्द्रों पर आयरन सिरप की उपलब्धता न होने पर डीएम ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि तीन दिन के अंदर आयरन सिरप उपलब्ध कराएं। यह भी देखें की आयरन सिरप मुख्यालय, एमओआइसी या किस स्तर पर लंबित है।

डीपीओ ने बताया कि पोषण वाटिका 56 फीसद व किशोरियों का स्वास्थ्य परीक्षण 95 फीसद किया गया है। जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा गोद लिए गए 39 कुपोषित गांवों को सुपोषित कर लिया गया है। बैठक मेंर तौहीद अहमद, जिला कार्यक्रम अधिकारी, डिप्टी सीएमओ वाईके राय, सीडीपीओ आदि रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस