जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : जिला कारागार में निरुद्ध बंदी की शनिवार की सुबह संदिग्ध हालत में मौत हो गई। जेल अधिकारियों ने उसकी हृदय गति रुकने से मौत होने की संभावना जताई। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

सरायमीर थाना क्षेत्र के पवई लाडपुर गांव निवासी राजू (40) को पुलिस ने चार दिन पूर्व हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया था और 13 फरवरी को पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट में चालान कर जेल भेज दिया था। तभी से वह जेल में निरुद्ध था। जिला कारागार से जेल कर्मी उसे शनिवार की सुबह लगभग पौने आठ बजे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। जेल अधीक्षक आरके मिश्र ने कहा कि बंदी को हेरोइन पीने की लत पड़ चुकी थी। सीने में दर्द व सांस लेने में तकलीफ पर उसे शुक्रवार को जेल अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। शनिवार की सुबह हालत बिगड़ने पर डाक्टर ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। जेल अधीक्षक ने उसकी हृदय गति रुकने से मौत की संभावना जताई। मौत की खबर जब परिजन को मिली तो परिवार के लोग भी जिला अस्पताल आ गए। परिजनों के चीख-पुकार से कोहराम मचा हुआ था। राजू के तीन पुत्र हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस