जासं, आजमगढ़ : सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। परीक्षा को नकल विहीन बनाने के लिए परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी। वहीं सिटी कोआर्डिनेटर नीलेश श्रीवास्तव के प्रयास से वर्ष 2019 में बनाए गए चार मूल्याकन केंद्रों की संख्या घटाकर इस बार बोर्ड ने तीन कर दिया है।

सिटी कोआर्डिनेटर ने बताया कि पिछले वर्ष सेंट जेवियर्स हाई स्कूल एलवल, चिल्ड्रेन हायर सेकेंड्री स्कूल बेलइसा, सेंट्रल पब्लिक स्कूल जाफरपुर व केंद्रीय विद्यालय हीरापट्टी को मूल्यांकन केंद्र बनाया गया था। इस बार बोर्ड ने इसमें परिवर्तन करते हुए केवल तीन विद्यालयों को मूल्यांकन केंद्र बनाया है। जिसमें सेंट जेवियर्स हाई स्कूल एलवल, चिल्ड्रेन सीनियर सेकेंड्री स्कूल बेलइसा व सेंट्रल पब्लिक स्कूल जाफरपुर शामिल हैं। वहीं पांच साल से सीबीएसई के नियमों का पालन करने, कुशल दिशानिर्देशन व प्रभारी कार्य कुशलता से प्रभावित होकर क्षेत्रीय कार्यालय प्रमुख श्वेता अरोरा ने सिटी कोआर्डिनेटर नीलेश श्रीवास्तव को प्रमाण पत्र व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

----

बिना यूनिफार्म परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे परीक्षार्थी : सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा में सभी परीक्षार्थियों को स्कूल यूनिफार्म में ही जाना है। परीक्षार्थियों के पास स्कूल का पहचान पत्र और बोर्ड परीक्षा के एडमिट कार्ड के अलावा जरूरत के अनुरूप नीला ब्लू बाल प्वाइंट, जेल या फाउंटेन पेन, पेंसिल, इरेजर, शॉर्पनर, ज्योमेट्री उपकरण, रंग, ब्रश ले जा सकते हैं। यह सामग्री भी ट्रांसपैरेंट पाउच में ही लेकर जाना है। इसके अलावा मोबाइल फोन व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण कतई न लेकर जाएं। बोर्ड परीक्षा में प्रतिबंधित सामग्री की सूची सीबीएसई की वेबसाइट पर भी दे दी गई है। कक्ष निरीक्षक से निर्देश मिलने पर उत्तर पुस्तिका में विवरण सावधानी से भरें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस