आजमगढ़ (जेएनएन)। उप्र पुलिस आरक्षी की लिखित परीक्षा से पूर्व ही नकल का खेल शुरू हो गया था। पुलिस टीम की छापेमारी में ब्रह्मस्थान स्थित विश्वा कोचिंग सेंटर से प्रबंधक सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से तीन मोबाइल, पांच हजार नकदी, 12 हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के अंक पत्र व दो आधारकार्ड बरामद हुए हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने स्वीकार किया कि 60-60 हजार रुपये में परीक्षा से पूर्व साल्व्ड पेपर उपलब्ध कराने के लिए मांगा गया था।

आजमगढ़ पुलिस ने ब्रह्मस्थान स्थित विश्वा कोचिंग सेंटर पर छापा मार कर पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर आउट करने से पहले रैकेट का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने मौके से  कोचिंग प्रबंधक सहित एक टीचर को गिरफ्तार किया है। उनके पास से तीन मोबाइल, छात्रों की मार्कशीट, आधार कार्ड बरामद किया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार प्रबंधक ने छात्रों से साल्वड पेपर उपलब्ध कराने के नाम पर 60-60 हजार रुपये का सौदा किया था।

एसपी सिटी सुभाषचंद गंगवार ने बताया कि गिरफ्तार शंभूपुर गांव निवासी विश्वा कोचिंग सेंटर का प्रबंधक शिवचरन विश्वकर्मा अहरौला थाने के संभूपुर गांव का निवासी है। कोचिंग का शिक्षक रविकांत पांडेय कप्तानगंज थाने के भवनपुर गांव का निवासी है। दोनों के पास से तीन मोबाइल, पांच हजार छह सौ रुपये ,हाई स्कूल,इंटर की 12 अंकपत्र, दो आधार कार्ड बरामद किया गया। 

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार प्रबंधक,शिक्षक की ओर से फर्जी तरीके से पुलिस आरक्षी परीक्षा का साल्वड पेपर उपलब्ध कराने के नाम पर कोचिंग के छात्रों से धन उगाही की जा रही थी। फिलहाल पुलिस की टीम  आरोपियों से पूछताछ में जुटी है। एसपी सिटी ने बताया कि शनिवार को मुखबिर के जरिये मिली सूचना पर छापेमारी में इन्हें पकड़ा गया है।

एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस की परीक्षा निष्पक्ष हो रही है। झूठा आश्वासन देकर यह लोग अभ्यर्थियों को चूना लगा रहे हैं। ऐसे में किसी को कहीं सूचना मिलती है तो उन्हें तत्काल जानकारी दें। फिलहाल दोनों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।  

Posted By: Ashish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस