जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : बांसफोर एवं वनवासी समुदाय के महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार और सरकार की अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभांवित कर समाज के मुख्यधारा से जोड़ने के लिए डीएम नागेंद्र प्रसाद सिंह की तरफ से पहल की गई है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत इन समुदाय की महिलाओं के समूह का गठन किया जा रहा है। विभागीय अधिकारी गांव में भ्रमण कर योजनाओं से लाभांवित कर रहे हैं।

मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार शुक्ला ने बताया कि अभियान के अंतर्गत विकास खंड सठियांव की ग्राम पंचायत ओझौली में कुल सात स्वयं सहायता समूह का गठन किया गया है। इसमें तीन बांसफोर और चार वनवासी (मुसहर) समुदाय के समूह हैं। ये हैं एकता आजीविका स्वयं सहायता समूह, मां दुर्गा आजीविका स्वयं सहायता समूह, कृष्ण अजीविका स्वयं सहायता समूह, मां काली आजीविका स्वयं सहायता समूह, जय सुहेलदेव आजीविका स्वयं सहायता समूह, एकल्व्य आजीविका स्वयं सहायता समूह और हरश्चिद्र आजिविका स्वयं सहायता समूह हैं। इसके अतिरिक्त 28 अंत्योदय, तीन वृद्धा पेंशन, चार विधवा पेंशन एवं तीन दिव्यांग पेंशन के लाभार्थियों का चयन किया गया। भ्रमण में डीसी एनआरएम बीके मोहन, जिला समाज कल्याण अधिकारी व प्रभारी बीडीओ राजेश कुमार यादव थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस