जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : रेल टिकट बु¨कग की प्रमाणित वेबसाइट आइआरसीटीसी बहुत सुरक्षित मानी जाती है। बावजूद इस वेबसाइट को चोरी-छिपे हैक करके कंफर्म ई-टिकट निकालने का खेल लंबे समय से जिले में चल रहा है। इस खेल में एक बड़ा गैंग काम कर रहा है जिसके एक एक्टिव हैकर और कथित मास्टरमाइंड भी है। बुधवार को जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के आजमगढ़-दोहरीघाट मार्ग पर स्थित अंकुर ट्रेवल्स एंड मोबाइल रिपेय¨रग सेंटर पर आरपीएफ की टीम ने छापेमारी कर एक युवक को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। गिरफ्तार युवक सतीश ¨सह जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के खानगाह बहराम ग्राम निवासी बताया जा रहा है। पुलिस ने उसके पास से दो लैपटाप, दो मोबाइल, दो इंटरनेट डोंगल, 31 हजार रुपये नकद व लगभग तीन लाख कीमत के ई-टिकट बरामद किए हैं। अभी आरपीएफ की टीम आरोपी से पूछताछ कर रही है। आरपीएफ थाना प्रभारी राशिद बेग मिर्जा ने बताया कि यह साफ्टवेयर आजमगढ़ में मकड़जाल की तरह फैल गया है। इसके लिए सीबीआई व हमारी टीम लगी हुई है। एक माह में हमने पांच हैकरों को गिरफ्तार किया है, अभी कई बाकी हैं जल्द ही बड़ी कामयाबी मिलेगी। पकड़ने वाली टीम में आरपीएफ थाना प्रभारी निरीक्षक राशिद बेग मिर्जा, एसआइ हरिराम यादव, कांस्टेबिल विजय श्रीवास्तव, दुर्गा यादव, सुनील ¨सह, कप्तान ¨सह, अशोक कुमार ¨सह व अजय सोनकर, बृजभूषण ¨सह, कमलेश कुमार, अखिलेश ¨सह व विनय दूबे सहित आदि शामिल रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस