जागरण संवाददाता, बलरामपुर (आजमगढ़): शहर कोतवाली क्षेत्र के आखापुर गांव निवासी निर्जला चौहान(18) पुत्री रामकुमार मंगलवार की दोपहर को घर में अचेत पड़ी थी, जिसे स्वजन जिला अस्पताल में भर्ती कराए, जहां आपात कालीन कक्ष में तैनात डाक्टर ने कीटनाशक पदार्थ खाने की बात कहते हुए इलाज शुरू किया। पिता रामकुमार ने बताया कि सुबह अपनी छोटी बहन से खाना बनाने को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ था। इससे नाराज होकर गेहूं में रखा कीटनाशक पदार्थ का सेवन कर लिया।

Edited By: Jagran