जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : भारत सरकार के निर्देश पर स्वच्छता सर्वेक्षण टीम द्वारा ओडीएफ घोषित किए गए 20 ब्लाकों के 20 गांवों के शौचालय का सत्यापन के लिए पूर्व में निरीक्षण किया जा चुका है। एक बार फिर स्वच्छता सर्वेक्षण टीम द्वारा निरीक्षण किया जाना है। इसके दृष्टिगत सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी की अध्यक्षता में संबंधित गांवों में शौचालय निर्माण की प्रगति के संबंध में एडीओ पंचायत, ग्राम प्रधान एवं सचिवों के साथ समीक्षा बैठक हुई। कितने शौचालय बन चुके हैं और कितने अभी बनने बाकी हैं, कितने शौचालय का पैसा प्राप्त हो गया है, कितने शौचालय का पैसा चाहिए, की जानकारी ली गई।

जिलाधिकारी ने समीक्षा के दौरान ग्राम बिलारी, असनी, कूबाखास, करसड़ा, भरथी जगदीशपुर में शौचालय निर्माण के संबंध में संतोषजनक प्रगति न पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। एडीओ पंचायत, ग्राम प्रधान एवं सचिवों को 31 जनवरी तक प्रत्येक दशा में शौचालय पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने एडीओ पंचायत रानी की सराय लालजी ¨सह को शौचालय के निर्माण में संतोषजनक कार्य न करने एवं कार्य में रुचि न लेने पर प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को आनंद प्रकाश श्रीवास्तव को दिए। निर्देशित किया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) एवं एलबीओ के अंतर्गत बचे शौचालयों का निर्माण जल्द से जल्द पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। चेतावनी दी कि घटिया किस्म की सामग्री न लगाएं। शौचालय मानक के अनुरूप दो गड्ढे वाले मजबूत बनाएं एवं मिस्त्री ज्यादा से ज्यादा लगाकर समूह में शौचालय बनवाएं। इस कार्य में दोषी पाये जाने पर एफआइआर दर्ज कराने के साथ विभागीय कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। इन बीस गांवों की हुई समीक्षा

जिलाधिकारी ने ग्रामवार बिलारी, सकरकोला, करसड़ा, भरथी जगदीशपुर, बेमुडीह किशुनदेवपुर, भरौली, जलालपुर जगनदासपट्टी, स्माइलपुर भरथी, सिकंदरपुर आइमा, हमीरपुर, जगदीशपुर, लेड़ुआवर, बीरभानपुर, फुलैच, अबुसैदपुर, गंगापुर, असनी, मलिकशाहपुर, महुआ मुरारपुर एवं कूबाखास के एडीओ पंचायत, ग्राम प्रधान तथा सचिव से के साथ शौचालय निर्माण के प्रगति की समीक्षा की।

Posted By: Jagran