जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : विद्यालय छोड़कर लंबे समय से गायब रहने वाले 24 सहायक अध्यापकों की सेवा को बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समाप्त कर दिया है। दूसरी तरफ 19 सहायक अध्यापकों ने बीएसए कार्यालय में अपना स्पष्टीकरण दे दिया है। इससे इनकी नौकरी बच गई है। विभाग की इस कार्रवाई से महकमे में हड़कंप सरीखा माहौल है। अब तक 19 लोगों ने अपना स्पष्टीकरण दिया है। शेष लोगों ने स्पष्टीकरण नहीं दिया है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय के अनुसार जनपद के 22 विकास खंडों में परिषदीय विद्यालयों के कुल 43 सहायक अध्यापक काफी दिनों से बिना किसी सूचना के गायब चल रहे थे। इसकी वजह से छात्रों की पढ़ाई बाधित चल रही थी। इसे गंभीरता से लेते हुए बीएसए ने इन शिक्षकों को अपनी नौकरी करने के लिए दो मौका दिया था। इसे मात्र 19 शिक्षकों ने बीएसए के समक्ष प्रस्तुत होकर अपना स्पष्टीकरण दिया। ऐसे में इनकी नौकरी सुरक्षित हो गई। जिन लोगों ने स्पष्टीकरण नहीं दिया और उनकी सेवा समाप्त कर दी गई। इसमें प्राथमिक विद्यालय महरूपुर सठियांव की सहायक अध्यापक श्वेता सिंह, प्रा.वि. पकड़ी अहरौला की पुष्पा यादव, प्रा.वि. बिलरियागंज की माधुरी कुमार, फुलेहरा की निशा यादव, प्राथमिक विद्यालय अजमतगढ़ प्रथम की सीमा यादव, प्रा.वि. सुखमदत्तनगर की सुनीता देवी, प्रा.वि., मद्धूपुर मिर्जापुर के पुरंदर यादव, प्रा.वि. हड़ौरा तरवां की श्वेता यादव, प्रा.वि. वाजनपुर पल्हना के राजेंद्र प्रसाद यादव, प्रा.वि. दनियालपुर पवई के राकेश, प्रा.वि. बढ़या प्रथम अतरौलिया के ज्ञानप्रकाश राय, प्रा.वि. गोविदपुर के दिवाकर, प्रा.वि. कनैला के मंगला वर्नवाल, प्रा.वि. कड़सरा की किरन पांडेय शामिल हैं। इसी प्रकार प्रा.वि. लोहरा द्वितीय की सहायक अध्यापक गरिमा पांडेय, प्रा.वि. मठिया जफ्ती माफी के शशिभूषण चतुर्वेदी, प्रा.वि. मुंडेरा के संतोष कुमार, प्रा.वि. सिकंदरपुर की सीमा देवी, प्रा.वि. तालुका चेरनई महराजगंज की नेहा गुप्ता, प्रा.वि. शिवराजपुर मार्टीनगंज की शालिनी सिंह, पूर्व माध्यमिक विद्यालय नरवें के रामकुमार सिंह, प्रा.वि. फुलेश के चंद्रजीत यादव, प्रा.वि. कोहरौली के धर्मेंद्र कुमार यादव व फूलपुर विकास खंड के प्रा.वि. पुकवाल के सहायक अध्यापक अजय कुमार शामिल हैं।

---------------------------

इन अध्यापकों के सारे दस्तावेजों की जांच की जाएगी। जांच में अगर इनके दस्तावेज फर्जी मिलते हैं तो इनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई भी की जाएगी। इसमें किसी भी दोषी सहायक अध्यापक को बख्शा नहीं जाएगा।

देवेंद्र कुमार पांडेय : बेसिक शिक्षा अधिकारी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran